उंगलियों की दूरी भी बताती है कैसी होगी जिंदगी, बस तरीका जान लो

नई दिल्ली: हाथ की रेखाओं के साथ-साथ आप अपनी उंगलियों से वर्तमान और भविष्य के बारे में भी जान सकते हैं। हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार हस्तरेखा में उंगलियों की लंबाई के साथ-साथ उनकी बनावट और उनके बीच की दूरी भी किसी व्यक्ति के बारे में बता सकती है। उंगलियों के बीच का गैप बता सकता है कि भविष्य में क्या छिपा है।

लक्ष्य को लेकर बहुत गंभीर हैं
हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार अगर तर्जनी यानि अंगूठे के पास वाली उंगली और मध्यमा अंगुली के बीच खाली जगह हो तो उस व्यक्ति के विचार स्वतंत्र होते हैं। वह आसानी से सब कुछ बता देता है। यदि उंगलियों के बीच अधिक दूरी हो तो वे बहुत मतलबी हो सकते हैं। हालांकि ऐसे लोग अपने लक्ष्य को लेकर काफी गंभीर होते हैं और इनकी मेहनत रंग भी रंग लाती है।

ऐसे लोग सिर्फ अपने फायदे की सोचते हैं
हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार मध्यमा यानी मध्यमा और अनामिका यानी अनामिका के बीच कोई दूरी नहीं होनी चाहिए। इन दोनों अंगुलियों का एक साथ होना शुभ माना जाता है। अगर इनके बीच खाली जगह हो तो ऐसे व्यक्ति को बहुत ही लापरवाह माना जाता है। यह केवल अपने बारे में सोचता है।

परिवार के सारे काम करो
अनामिका यानी अनामिका और छोटी उंगली के बीच का स्थान अशुभ माना जाता है। ऐसे व्यक्ति बहुत क्रोधी होते हैं। यह अपने अधिकार के लिए किसी भी स्तर तक जा सकता है, फिर गलत और सही नहीं देख सकता। जिनके पास खाली जगह होती है, वे बहुत सकारात्मक सोचते हैं और अपने परिवार की शांति के लिए सभी काम करते हैं।

ऐसे लोग उच्च पदों पर कार्य करते हैं
अगर तर्जनी यानी अंगूठे के पास की उंगली अनामिका यानी अनामिका से छोटी हो। तो ऐसे व्यक्ति में बहुत अहंकार होता है, सम्मान पाने की इच्छा होती है। यदि यह उंगली अनामिका से बड़ी हो तो व्यक्ति जिम्मेदारी के पदों पर कार्य करता है। यदि यह सामान्य से छोटा है तो व्यक्ति में महत्वाकांक्षा की कमी होती है।

ऐसे लोग गंभीर प्रकृति के होते हैं
हस्तरेखा शास्त्र के अनुसार अगर किसी भी अंगुली में गैप न हो तो ऐसा व्यक्ति बहुत गंभीर स्वभाव का होता है। ऐसे लोग किसी से ज्यादा बात नहीं करते, हमेशा अपने में ही रहते हैं। जिनकी सभी उंगलियों में गैप होता है वे ऊर्जावान होते हैं। इन लोगों की सोच बहुत सकारात्मक होती है।