इस राज्य में सख्त हुई सरकार, वैक्सीन नहीं लगवाया तो घर से निकलने पर लगा दिया जायेगा प्रतिबंध

राजस्थान में कोरोना की भयावहता को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वास्थ्य अधिकारियों और मंत्रियों के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लिया।

राजस्थान। राजस्थान में कोरोना की भयावहता को देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने स्वास्थ्य अधिकारियों और मंत्रियों के साथ बैठक कर स्थिति का जायजा लिया। 3 घंटे तक चली इस बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत ने 31 जनवरी तक राज्य के सभी लोगों को वैक्सीनेशन करने के निर्देश दिए हैं।

ASHOK GAHLOT

उन्होंने कहा कि टीकाकरण को लेकर हमें सख्ती बरतनी होगी। उन्होंने कहा कि राजस्थान में वैक्सीन की दोनों डोज न लगवाने वालों को आगामी 1 फरवरी से घर से बाहर न निकलने दिया जाए। इसके साथ ही प्रदेश में 3 जनवरी से सख्त नाइट कर्फ्यू का पालन किया जाये। सीएम अशोक गहलोत ने अधिकारियों से इस संबंध में नई गाइडलाइन जारी करने को भी कहा।

गौरतलब है कि महाराष्ट्र और दिल्ली में कोरोना और ओमिक्रॉन के मामलों में लगातार इजाफा हो रहा है। मुंबई में नए साल के जश्न के दौरान संक्रमण के खतरे के मद्देनजर पूरे शहर में 15 जनवरी तक धारा 144 लागू कर दी गई है। अब यहां एक साथ 5 से अधिक लोग इकट्ठा नहीं हो सकते। इसके साथ ही मुंबई पुलिस ने लोगों को शाम 5 बजे से सुबह 5 बजे तक समुद्र तट, खुले मैदान और गार्डन में न जाने की सलाह दी है।

इधर बिहार में भी कोरोना 1.6 गुणा की रफ्तार से तेजी पकड़ रहा है। डेल्टा और डेल्टा प्लस के साथ अब ओमिक्रॉन वैरिएंट की भी दहशत राज्य में बढ़ गई है। बिहार में भी कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रॉन की पुष्टि हो चुकी है। मध्य प्रदेश में बीते 24 घंटे में कोरोना के 77 नए मामले सामने आये हैं। सबसे अधिक 43 पॉजिटिव लोग इंदौर में मिले हैं। इनमें से एक नए वैरियंट ओमिक्रॉन संक्रमित हैं।