थाने में फरियाद लेकर पहुंची घायल महिला तो इंस्‍पेक्‍टर ने सुनाया ये गाना, फिर बोला…

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलाल गंज थाने के इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्रा पर एक महिला फरियादी ने आरोप लगाया है कि वह जब अपनी फरियाद लेकर मोहनलालगंज कोतवाली पहुंची तो  इंस्पेक्टर साहब ने उसे पहले गाना सुनाया (आइए आपका इंतजार था, देर हुई आने में तुमको, शुक्र है कि जो आए तो) और पूछा कि यह किस फिल्म का गाना है।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ के मोहनलाल गंज थाने के इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्रा पर एक महिला फरियादी ने आरोप लगाया है कि वह जब अपनी फरियाद लेकर मोहनलालगंज कोतवाली पहुंची तो  इंस्पेक्टर साहब ने उसे पहले गाना सुनाया (आइए आपका इंतजार था, देर हुई आने में तुमको, शुक्र है कि जो आए तो) और पूछा कि यह किस फिल्म का गाना है। महिला का कहना है कि वह इसके बाद रोते हुए उल्टे पांव लौट गई। वहीं इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्रा ने कहा कि महिला के आरोप निराधार हैं। उसे कोई गाना नहीं सुनाया गया।

Inspector Dinanath Mishra

ये है पूरा मामला

दरअसल मोहनलालगंज के बिल्हानी गौरा की रहने वाली रेनू की शादी बीते 26 जून को कल्ली पूरब निवासी राहुल के साथ हुई थी। शादी के बाद से दहेज की मांग को लेकर अक्सर पति, ससुर महेश, ननद पूनम, चांदनी और सास आए दिन मारपीट करते रहते थे। बीती 19 फरवरी को सबने जमकर पीटा और फिर छत से धक्का देकर गिरा दिया। मामले की जानकारी पुलिस कंट्रोल रूम को दी गई थी। पुलिस पहुंची समझा-बुझाकर वापस लौट गई। इसके बाद गिरने से गंभीर चोट आ गई थी। जिसके कारण अस्पताल में रही। आराम मिलने पर लडख़ड़ाते हुए सोमवार को शिकायत लेकर थाने पहुंची। जहां इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्रा गाना सुनाने लगे और फिल्म का नाम पूछा।

काहे मारा हाथ में चाकू सीधे पेट में क्यों नहीं मारा

पीडि़ता रेनू ने बताया कि जब उसने अपने ऊपर चाकू से हमला करने की शिकायत की और उसने अपना हाथ दिखाया और कहा कि ससुरालीजन चाकू से हाथ पर वार भी करते थे। आए दिन मारपीट करते हैं। पीडि़ता का आरोप है कि इस पर इंस्पेक्टर ने कहा कि क्यों थोड़ी थोड़ी चाकू उन्होंने हाथ पर मारी सीधे पेट पर क्यों नहीं मार दी। उन्हें तुम्हारे पेट में चाकू मारनी चाहिए थी। इसके बाद बिना कार्यवाही के ही लौटा दिया। हालात की मारी महिला फूट-फूट कर रोने लगी। इसके बाद उल्टे पांव लौट गई।

दोपहर बाद इंटरनेट मीडिया पर वीडियो वायरल हुआ तो पुलिस महकमें में हड़कंप मच गया। आलाधिकारियों ने इंस्पेक्टर को जमकर फटकार लगाई। इसके बाद पीडि़ता की तहरीर पर उसके पति समेत अन्य ससुरालीजनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया। मामले में इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्रा ने बताया कि रेनू के आरोप निराधार हैं। तहरीर के आधार पर उसके पति राहुल, ससुर महेश, सास और दो ननद के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर कार्यवाही की जा रही है।

कमिश्नर ने दिए इंस्पेक्टर के खिलाफ जांच के आदेश

पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने डीसीपी साउथ रवि कुमार को मामले की जांच के आदेश दिए हैं। दो दिन के अंदर वह अपनी रिपोर्ट देंगे। उसके आधार पर आगे की कार्यवाही की जाएगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *