दीपावली से पहले इस प्रदेश में पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर राज्य सरकार ने लगाई रोक

राज्य सरकार का कहना है कि पटाखों से निकलने वाले विषैले धुएं से कोविड-19 संक्रमित रोगियों और लोगों के स्वास्थ्य को लेकर खतरा है जिसके कारण पूरे प्रदेश में पटाखों की बिक्री, आतिशबाजी पर रोक लगाने का फैसला किया है। 

जयपुर। राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने दीपावली से पहले पटाखों की बिक्री और आतिशबाजी पर रोक लगा दी है।  राज्य सरकार ने कहा है कि यह फैसला कोविड-19 को लेकर लिया गया है। राज्य सरकार का कहना है कि पटाखों से निकलने वाले विषैले धुएं से कोविड-19 संक्रमित रोगियों और लोगों के स्वास्थ्य को लेकर खतरा है जिसके कारण पूरे प्रदेश में पटाखों की बिक्री, आतिशबाजी पर रोक लगाने का फैसला किया है।

Ban on firecrackers in Rajasthan

ये हिंदुओं पर जजिया टैक्स लगाने जैसा-बीजेपी विधायक

बीजेपी विधायक अशोक लाहोटी ने दिवाली पर पटाखे पर रोक पर अशोक गहलोत को हिंदू विरोधी बताया है और कहा कि ये हिंदुओं पर जजिया टैक्स लगाने जैसा है। वहीं बीजेपी विधायक मदन दिलावर ने कहा है कि प्रदूषण रोकने के लिए ईद पर बकरों की कुर्बानी पर भी पाबंदी लगनी चाहिए, क्योंकि उससे भी प्रदूषण फैलता है।

पटाखे रहित दीपावली मनाएं-गहलोत

सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि ‘आतिशबाजी से होने वाले प्रदूषण से कोविड फैलने का खतरा बढ़ता है तथा संक्रमित व्यक्तियों और ठीक हो चुके लोगों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ता है। चिकित्सा विशेषज्ञों की सलाह के अनुसार कोरोना से जीवन रक्षा के लिए हम सभी पटाखे रहित दीपावली मनाएं और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें।

वहीं राजस्थान सरकार के स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा है कि लोगों का जीवन बचाने के लिए सरकार ने पटाखों पर पाबंदी लगाई है क्योंकि पटाखे के धुएं से कोरोनावायरस से पीड़ित मरीजों के फेफड़े में इंफेक्शन बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा कि या तो लोग जिंदगी बचा लें या पटाखा जला लें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *