पुलिस कैंप में एसओजी जवान को घायल कर छिपे आतंकी को सुरक्षाबलों ने मार गिराया

पुलवामा जिले के त्राल इलाके में पुलिस कैंप में एसओजी जवान अमजद अहमद को घायल कर उसका हथियार छीन कैंप में ही छिपे आतंकी को सुरक्षाबलों ने गुरुवार सुबह मार गिराया।

पुलवामा। पुलवामा जिले के त्राल इलाके में पुलिस कैंप में एसओजी जवान अमजद अहमद को घायल कर उसका हथियार छीन कैंप में ही छिपे आतंकी को सुरक्षाबलों ने गुरुवार सुबह मार गिराया। मारे गए आतंकी की पहचान मोहम्मद अमीन मलिक निवासी नागाबल मच्छामा के रूप में हुई है।
Terrorist killed
बता दें कि कुछ दिन पहले त्राल में सुरक्षाबलों ने तलाशी अभियान के दौरान एक मकान में विस्फोटकों के साथ एक गैर लाइसेंसी राइफल भी बरामद की थी। यह मकान एक पूर्व आतंकी मोहम्मद अमीन मलिक का था। अमीन आत्मसमर्पित आतंकी है और उसका भाई शब्बीर मलिक भी आतंकी रह चुका है।  शब्बीर मलिक जाकिर मूसा के नेतृत्व वाले अंसार गजवत-उल-हिंद से जुड़ा आतंकी था।

पूछताछ के लिए एसओजी शिविर त्राल में बुलाया था

पुलिस ने बुधवार को उसे पूछताछ के लिए एसओजी शिविर त्राल में बुलाया था। इस दौरान आतंकी की एक पुलिसकर्मी अमजद अहमद से बेहस हो गई थी, जिसके बाद दोनों में हाथापाई शुरू हो गई। हाथापाई के दौरान आतंकी ने पुलिसकर्मी से उसकी राइफल छीनने का प्रयास किया था, जिसके चलते पुलिसकर्मी को गोली लग गई थी। गोली की आवाज से अफरातफरी मचने से आतंकी पुलिसकर्मी की राइफल लेकर एसओजी शिविर के जेनरेटर रूम में छिप गया था।

जवानों ने बार-बार अमीन को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा

अपने साथी के घायल होने के बाद एसओजी के जवानों ने बार-बार अमीन को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा। इसी वजह से मुठभेड़ गुरुवार सुबह तक जारी रही। इस बीच सुरक्षाबलों ने अमीन के परिजन को भी कैंप में ले आये। परिजन ने भी उसे आत्मसमर्पण  के लिए कई बार मनाया लेकिन वह नहीं माना।
इस बीच आतंकी और सुरक्षाबलों के बीच कई घंटों तक गोलीबारी जारी रही। गुरुवार तडके सुरक्षाबलों ने आतंकी को मार गिराया। बाद में सुरक्षाबलों ने उसके शव को अपने कब्जे में ले लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *