पर्यटकों के लिए खोला गया दुनिया सबसे बड़ा पागलखाना लेकिन जाने से डर रहे लोग, सामने आई ये बड़ी वजह

अमेरिका के जॉर्जिया में स्थित विश्व के सबसे बड़े पागलखाने को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। यह पागलखाना सेंट्रल स्टेट हॉस्पिटल के...

अमेरिका। अमेरिका के जॉर्जिया में स्थित विश्व के सबसे बड़े पागलखाने को पर्यटकों के लिए खोल दिया गया है। यह पागलखाना सेंट्रल स्टेट हॉस्पिटल के नाम से जाना जाता है लेकिन अब लोग यहां जाने से डर रहे हैं। लोगों का मानना है कि यहां भूत रहते हैं। हालांकि किसी जमाने में यह दुनिया का सबसे बड़ा पागलखाना माना जाता था। इसके बाद धीरे-धीरे यहां लोग कम होते गए और इसकी कई इमारतें खंडहर में तब्दील होती गयीं। हालांकि अभी भी यहां कुछ लोग मौजूद है जिनका इलाज किया जा रहा है।

world's biggest madhouse

जानकारी के मुताबिक अमेरिका के जॉर्जिया में स्थित सेंट्रल स्टेट हॉस्पिटल को आम जनता के लिए खोल दिया गया है। इस हॉस्पिटल का वर्तमान जितना दिलचस्प है उससे कहीं ज्यादा इसका इतिहास दिलचस्प है। रिपोर्ट्स कि मानें तो इस हॉस्पिटल का निर्माण साल 1842 में हुआ था। वर्ष 1960 तक पहुंचते-पहुंचते यह दुनिया का सबसे बड़ा पागलखाना माना जाने लगा। उस समय यहां 12 हजार से अधिक मरीजों का इलाज एक साथ किया जाता था।

हालांकि यह भी एक तथ्य है कि इस हॉस्पिटल में बड़े ही अमानवीय तरीके से मरीजों को रखा जाता था। यहाँ इलाज कर रहे बच्चों को लोहे से बने पिंजड़े में बंद रखा जाता था जबकि बड़ों को स्टीम बाथ और ठंडे पानी से नहाने के लिए मजबूर किया जाता था। रिपोर्ट्स में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि इस पागलखाने के मैदान में 25 हजार से अधिक मरीजों को दफनाया जा चुका है। यहां उन मरीजों के नाम की मेटल से बनी प्लेट गड़ी हुई हैं।

world's biggest madhouse

रिपोर्ट के मुताबिक, समय के साथ इस हॉस्पिटल की हालत काफी खस्ता होती गयी और मरीजों की संख्या में कमी होने लगी। हालात यह हो गए कि लगभग हजार एकड़ में बने अस्पताल की 200 से ज्यादा खाली पड़ी इमारतों में भूत पकड़ने वाले लोग आने लगे। लोगों का कहना है कि खाली हिस्से हॉन्टेड हैं और वहां भूतों का वास है, हालांकि इस बात की कोई पुष्टि नहीं हुई है। फिलहाल इस समय इस पूरे हॉस्पिटल का सिर्फ एक छोटा सा हिस्सा एक्टिव है जिसमें करीब 300 मरीजों का का इलाज चलता है। हालांकि अब इलाज के तरीकों में काफी हद तक बदलाव किया जा चुका है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *