5200 साल पहले बना था दुनिया का सबसे रहस्यमयी स्मारक, बनाने वाले का आज तक नहीं चला पता

पूरी दुनिया में रहस्यमयी इमारतों और मकबरों की कमी नहीं है। सबका अपना इतिहास और रहस्य है। आज हम आपको दुनिया के ऐसे ही एक स्मारक के बारे में बताने जा रहे हैं। जिसे दुनिया का सबसे रहस्यमयी स्मारक माना जाता है। क्योंकि इस स्मारक को किसने बनवाया, इसके बारे में किसी को नहीं पता और न ही किसी दस्तावेज में इसके बारे में कुछ बताया गया है। दरअसल, हम बात कर रहे हैं। न्यूगेंज के बारे में, काउंटी मीथ, आयरलैंड में स्थित है। आपको बता दें कि यह एक प्रागैतिहासिक स्मारक है जो बोयार्न नदी के उत्तर में द्रोघेडा से करीब आठ किलोमीटर पश्चिम में स्थित है।

आपको बता दें कि इस स्मारक का निर्माण 3200 ईसा पूर्व यानि करीब 5220 साल पहले हुआ था। यानी इसका निर्माण नवपाषाण काल ​​में हुआ था। यह विश्व प्रसिद्ध स्टोनहेंज और मिस्र के पिरामिडों से काफी पुराना है। ऐसा माना जाता है कि यह स्मारक स्टोनहेंज से करीब 500 साल पुराना है। कई पुरातत्वविदों का मानना ​​है कि इस स्मारक का किसी तरह का धार्मिक महत्व था, शायद यहां किसी तरह की पूजा हुई होगी। हालांकि इस जगह का इस्तेमाल किस काम के लिए किया गया और इसे किसने बनवाया, इस बारे में कोई नहीं जान पाया है।

आपको बता दें कि इसका सबसे बड़ा टीला लगभग 80 मीटर व्यास का है, जिसका आधार 97 पत्थरों से घिरा है। इन पत्थरों में सबसे प्रभावशाली प्रवेश द्वार पर अत्यधिक सजाया गया पत्थर है। इस स्मारक के एक कमरे में 19 मीटर का रास्ता है, जो केवल सर्दियों के मौसम में ही सूर्योदय के समय प्रकाशित होता है। यह भी एक रहस्य है।

आपको बता दें कि इस जगह की खोज काफी पहले हुई थी, जिसके बाद यहां 1962 से लेकर 1975 तक खुदाई का काम किया गया और इसके बारे में जानने की कोशिश की गई। हालांकि अभी तक इसके बारे में ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई है। यह रहस्यमयी स्मारक एक बड़े गोलाकार टीले की तरह है,

जिसमें एक भीतरी पत्थर का मार्ग और कक्ष है। इन कक्षों में मानव हड्डियों के अलावा कब्र के सामान भी पाए गए थे। यहां खुदाई में जली और अधजली मानव हड्डियां भी मिली हैं। जिससे संकेत मिलता है कि मानव शवों को स्मारक के अंदर रखा गया था, जिनमें से कुछ का अंतिम संस्कार कर दिया गया था।