Rafael Deals में हुआ था भ्रष्टाचार! मोदी सरकार पर हमलावर कांग्रेस ने कहा – सच्चाई आ गई सामने

राफेल लड़ाकू विमान सौदे (Rafael Deals) में भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस शुरू से ही मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते करती रही है। मोदी सरकार और बीजेपी राफेल लड़ाकू विमान सौदे में किसी भी तरह के भ्रष्टाचार को सिरे से नकारती रही है।

नई दिल्ली। राफेल लड़ाकू विमान सौदे (Rafael Deals) में एक बार फिर भ्रष्टाचार का जिन्न बाहर निकला है। फ्रांस मीडिया ने दावा किया है कि राफेल बनाने वाली फ्रांसीसी कंपनी दसॉ को भारत में एक बिचौलिये को एक मिलियन यूरो ‘बतौर गिफ्ट’ देने पड़े थे। फ्रांसीसी मीडिया के इस खुलासे के बाद एक बार फिर राफेल की डील (Rafael Deals) को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं। कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा है कि 60 हजार करोड़ रुपए के राफेल सौदे से जुड़े मामले में सच्चाई सामने आ गई है।

राफेल लड़ाकू विमान सौदे (Rafael Deals) में भ्रष्टाचार को लेकर कांग्रेस शुरू से ही मोदी सरकार को कटघरे में खड़ा करते करती रही है। मोदी सरकार और बीजेपी राफेल लड़ाकू विमान सौदे में किसी भी तरह के भ्रष्टाचार को सिरे से नकारती रही है। अब फ्रांस की वेबसाइट मीडियापार्ट ने खुलासा किया है कि राफेल निर्माता फ्रांसीसी कंपनी दसॉल्ट को भारत में एक बिचौलिये को करीब 8 करोड़ 62 लाख रुपये बतौर गिफ्ट देने पड़े थे।

उल्लेखनीय है कि वर्ष 2016 में भारत और फ्रांस ने फ्रांसीसी रक्षा समूह दसॉल्ट द्वारा किए गए 36 राफेल जेट लड़ाकू विमानों की खरीद (Rafael Deals) के लिए 7.8 बिलियन यूरो की डील की थी। फ्रांस की एंटी करप्शन एजेंसी एएफए ने दसॉल्ट के खातों का ऑडिट किया, जिसमें भ्रष्टाचार सामने आया। मीडियापार्ट की रिपोर्ट के मुताबिक ऑडिट में ये बात सामने आने के बाद भी एजेंसी ने कोई कार्रवाई नहीं की।

RCB को लगा तगड़ा झटका, IPL से पहले कोरोना का शिकार हुआ ये बल्लेबाज

राफेल सौदे (Rafael Deals) में भ्रष्टाचार के खुलासे के बाद कांग्रेस एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला राफेल डील को लेकर सोमवार को मीडिया से मुखातिब हुए। सुरजेवाला ने कहा कि 60 हजार करोड़ रुपए के राफेल रक्षा सौदे में सच्चाई सामने आ गई है। फ्रांस की एक एजेंसी ने इसका खुलासा किया है।

जानें मुख्तार अंसारी का अपराध की दुनिया से विधायक तक का सफर, ऐसे मिला था चुनाव लड़ने के लिए टिकट

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि कमीशनखोरी और बिचौलिए की एक गाथा देश के सामने है। 60 हजार करोड़ रुपए के राफेल खरीदने की घोषणा की गई। इसके लिए ना कोई टेंडर ना कोई सूचना। इतने बड़े और अहम सौदे में जैसे केले और सेब खरीदते हैं वैसे ही बात की गई। सुरजेवाला ने कहा कि सरकार CAG, प्रधानमंत्री, रक्षा मंत्री, बीजेपी सांसद कोई भी नहीं बताता राफ़ेल जहाज़ की असली क़ीमत क्या है ? (Rafael Deals)

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *