न्यू ईयर पर इंडिया और पाकिस्तान के बीच हुई ये बड़ी डील, जानकर दंग रह जाएंगे आप

दोनों देशों के बीच एक द्विपक्षीय समझौते के अंतर्गत प्रतिवर्ष ऐसा किया जाता है। इसका उद्देश्य उन्हें एक-दूसरे के परमाणु संस्थानों पर हमले करने से रोकना है।

बीते तीस सालों से जारी चलन को आगे बढ़ाते हुए हिंदुस्तान और पाकिस्तान ने शुक्रवार को अपने-अपने परमाणु प्रतिष्ठानों की सूची एक-दूसरे को सौंपी। दोनों देशों के बीच एक द्विपक्षीय समझौते के अंतर्गत प्रतिवर्ष ऐसा किया जाता है। इसका उद्देश्य उन्हें एक-दूसरे के परमाणु संस्थानों पर हमले करने से रोकना है।

हिंदुस्तान में विदेश मंत्रालय के बयान में कहा गया है कि दोनों देशों ने परमाणु प्रतिष्ठान एवं सुविधाओं पर हमलों के निषेध संबंधी समझौते के अंतर्गत आने वाले परमाणु प्रतिष्ठानों की सूची का आदान प्रदान किया ।

मंत्रालय ने बताया कि हिंदुस्तान और पाकिस्तान ने नयी दिल्ली और इस्लामाबाद में राजनयिक माध्यमों से परमाणु प्रतिष्ठानों और सुविधाओं की सूची का आदान प्रदान किया जो परमाणु प्रतिष्ठान एवं संस्थानों पर हमलों के निषेध संबंधी समझौते के दायरे में आते हैं। हिंदुस्तान और पाकिस्तान के बीच परमाणु प्रतिष्ठानों की लिस्ट का आदान प्रदान ऐसे वक्त में हुआ है जब कश्मीर मुद्दे और बॉर्डर पार आतंकवाद को लेकर दोनों देशों के बीच रिश्तों में खटास है ।

हम आपको बता दें कि इस डील पर हस्ताक्षर 31 दिसंबर 1988 को किए गए थे और यह 27 जनवरी 1991 से प्रभाव में आया था । इसके अंतर्गत पहली बार लिस्ट का आदान प्रदान 1 जनवरी 1992 को हुआ था ।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *