ये है दुनिया का सबसे शानदार बाजार, जहां सामान नहीं बल्कि दुल्हन खरीदने आते हैं लोग

नई दिल्ली: दुनियाभर में अलग-अलग तरह के बाजार हैं. हमारे देश में भी हर छोटे-बड़े शहर में बाजार लगाने का चलन है। इनमें से कुछ बाजार साप्ताहिक और कुछ बाजार पाक्षिक यानी 15 दिनों में एक बार आयोजित किए जाते हैं। भारत ही नहीं दुनिया के अन्य देशों में भी ऐसे ही बाजार लगते हैं जहां लोग अपनी रोजमर्रा और जरूरत की चीजों की खरीदारी करते हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसे बाजार के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में आपने आज तक नहीं सुना होगा.

क्योंकि यह बाजार दुल्हनों की बिक्री के लिए मशहूर है। जहां लोग अपनी पसंद की दुल्हन खरीदने आते हैं। यह कोई गैर कानूनी कार्य नहीं है बल्कि यह पूरी तरह से कानूनी रूप से किया जाता है। आपको शायद यकीन न हो, लेकिन यूरोपियन देश बुल्गारिया का एक बाजार दुल्हनों की बिक्री के लिए ही मशहूर है। जहां दुल्हनों की बिक्री को वैध माना जाता है। बुल्गारिया में स्टारा जागोर नामक स्थान पर हर तीन साल में एक बार दुल्हन बाजार आयोजित किया जाता है।

यहां आकर दूल्हा अपनी पसंद की दुल्हन खरीद सकता है और उसे अपनी पत्नी बना सकता है। दरअसल, यह बाजार ऐसे गरीब परिवारों द्वारा स्थापित किया गया है, जिनकी आर्थिक स्थिति ऐसी नहीं है कि वे बेटी की शादी का खर्च उठा सकें। इस बाजार में लड़कियों को दुल्हन के वेश में ले जाया जाता है। बिकने वाली दुल्हनों में लगभग सभी उम्र की लड़कियां और महिलाएं शामिल हैं।

अक्सर लड़का भी अपने परिवार के साथ इस बाजार में दुल्हन खरीदने आता है। दूल्हा पहले अपनी पसंदीदा लड़की चुनता है और फिर उसे उससे बात करने का मौका दिया जाता है। लड़की को पसंद करने पर वह उसे अपनी पत्नी के रूप में स्वीकार करता है। उसके बाद लड़का लड़की के घरवालों को तय रकम देता है.

आपको बता दें कि यहां के गरीब परिवारों में दुल्हन खरीदने का यह सिलसिला कई पीढ़ियों से चला आ रहा है। इस तरह की दुल्हनों की खरीद पर कोई कानूनी रोक नहीं है। यह बाजार बुल्गारिया के कलैदझी समुदाय द्वारा स्थापित किया गया है। यही कारण है कि इस समुदाय के अलावा कोई बाहरी व्यक्ति यहां से दुल्हन नहीं खरीद सकता।

बाजार में केवल वही परिवार हैं, जो अपनी लड़कियों की शादी करने के लिए आर्थिक रूप से कमजोर हैं। लड़कियां बाजार में अकेली नहीं आती हैं। उनके साथ परिवार का कोई न कोई सदस्य जरूर रहा होगा।

आमतौर पर लड़के दहेज लेते हैं, लेकिन यहां उल्टा रिवाज है। यहां लड़के के परिवार को लड़की के परिवार के लिए पैसे देने होते हैं. बाजार में लड़के को पसंद आने वाली लड़की को अपने घर वालों को भी बहू मानना ​​पड़ता है। इस नियम का कड़ाई से पालन किया जाता है।