OMG: इस कुएं को कहा जाता है नर्क का द्वार, आज तक कोई नहीं जान पाया इसका रहस्य

नई दिल्ली: हमारी धरती पर कई ऐसी चीजें हैं जिनका रहस्य आज तक कोई नहीं जान पाया है. आज हम आपको एक ऐसे ही कुएं के बारे में बताने जा रहे हैं जिसे नर्क का द्वार कहा जाता है। यह कुआं दुनिया भर के वैज्ञानिकों के लिए एक रहस्य बना हुआ है क्योंकि इसके बारे में ज्यादा कोई नहीं जानता। नर्क का द्वार कहे जाने वाला यह कुआं यमन के बरहुत में स्थित है। इसे नरक का मार्ग भी कहा जाता है। यह जगह पूरी दुनिया में इसी नाम से जानी जाती है। कई लोगों का कहना है कि पहले इस रहस्यमयी गड्ढे के अंदर शैतानों को कैद किया गया था। वहीं कुछ लोगों का यह भी मानना ​​है कि आज भी इस कुएं के अंदर भूत रहते हैं। इन सबके बावजूद वैज्ञानिकों की एक टीम ने इसमें प्रवेश किया है।

आपको बता दें कि यह जगह यमन के एक रेगिस्तान के बीच में स्थित है। इस स्थान पर एक बहुत बड़ा कुआं है। यह कुआं काफी समय से रहस्यमय बना हुआ था। हाल ही में ओमान से 8 लोगों की टीम ने इस कुएं में प्रवेश किया था। इसके अंदर घुसकर उन्होंने यह जानने की कोशिश की कि वास्तव में इस कुएं के अंदर क्या है। काफी समय से स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां जिन और भूत रहते हैं। गौरतलब है कि स्थानीय लोगों में इस जगह को लेकर इतना डर ​​है कि वे इसके बारे में बात करने से भी डरते हैं।

वैज्ञानिकों की टीम ने जब कुएं के अंदर प्रवेश किया तो उन्हें उसमें किसी प्रकार का जिन और भूत नहीं मिला। हालांकि, कुएं के अंदर सांप और गुफा के मोती जरूर मिले थे। आपको बता दें कि यह गड्ढा करीब 30 मीटर चौड़ा है और इसकी गहराई 100-250 मीटर तक है. इसके अंदर प्रवेश करने के बाद ओमान केव एक्सप्लोरेशन की टीम ने इसकी गहन छानबीन की।

ओमान में जर्मन यूनिवर्सिटी ऑफ टेक्नोलॉजी के प्रोफेसर मोहम्मद अल किंडी का कहना है कि गुफा के अंदर कई सांप थे, लेकिन उन्होंने किसी पर हमला नहीं किया। गुफा की दीवारों पर भी कई बनावट देखी गई। वैज्ञानिकों का कहना है कि यह क्रेटर लाखों साल पुराना है। इसमें काफी शोध की जरूरत है। हालांकि, प्रकाश गड्ढे की तह तक नहीं पहुंचता है। जिससे गहरा अंधेरा है।