मोक्ष पाने के लिए बुजुर्ग ने इतने गहरे गड्ढे में ली समाधि, ग्रामीणों ने चढ़ाये फूल और मिठाई, फिर हुआ ये…

हमारे देश में आज भी बहुत से लोग अंधविश्वास में जीते हैं। यहां मोक्ष पाने के लिए बलि देने और समाधि लेने की घटनाएं आज भी घटती रहती हैं।

भोपाल। हमारे देश में आज भी बहुत से लोग अंधविश्वास में जीते हैं। यहां मोक्ष पाने के लिए बलि देने और समाधि लेने की घटनाएं आज भी घटती रहती हैं। ऐसी ही एक घटना मध्यप्रदेश के मुरैना जिले के कैथोदा पंचायत के तुस्सीपुरा गांव में देखने को मिली। यह घटना गुरुवार की है। बताया जाता है कि गांव में स्थित बाबा दुर्गादास आश्रम के हनुमानजी व कालीजी के मंदिर में पूजा पाठ करने वाले राम सिंह बाबा उर्फ पप्पड़ बाबा ने गड्ढे में लेटकर समाधि लेने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने मौके पर पहुंच का रहे बचा लिया।

samadhi

इस मामले को लेकर एसपी ललित शाक्यवार ने बताया कि समय पर पुलिस के पहुंच जाने से पप्पड़़ बाबा समाधि नहीं ले सके और तबियत खराब होने की वजह से उन्हें अस्पताल में दाखिल कराया गया है। जानकारी के मुताबिक तुस्सीपुरा गांव में रामसिंह बाबा उर्फ पप्पड़ बाबा का भरापूरा परिवार है। बाबा की उम्र के बारे में दावा किया जाता है कि वे 105 साल के हैं।

बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले बाबा को सपना आया था कि अगर उन्हें मोक्ष चाहिए तो जीव समाधि ले लें। इसके बाद बाबा ने समाधि लेने के लिए नवरात्रि के पहले दिन का समय निर्धारित किया। इसके लिए बाबा ने बाकायदा पांच फुट गहरा गड्ढा खुदवाया। बाबा ने गुरुवार की सुबह पांच बजे अपने नाती प्रेमसिंह कुशवाह को दोपहर दो से पांच बजे के बीच समाधि लेने की जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि वे अपना चोला त्याग (देह त्याग) कर समाधि लेंगे। उनकी समाधि लेने की खबर आसपास के कई गांवों में पहुंच गयी। समाधि के पहले लोग बाबा के दर्शन करने पहुंचने लगे। दोपहर सवा दो बजे बाबा गड्ढे में उतर गए। इस मौके पर लोगों ने ढोलक बजाकर, भजन-कीर्तन गाते हुए उन्हें विदा करने की तैयारी शुरू कर दी। लोगों ने मिठाई और फल का प्रसाद भी चढ़ाया। कई लोगों ने रुपए भी भेंट किए।

इसी बीच किसी ने समाधि की सूचन सिविल लाइन थाने में दे दी। खबर पाने के बाद पुलिस तुस्सीपुरा गांव पहुंची और श्रद्धालुजनों को समझाया। पुलिस ने बाबा के हाथ जोड़कर उन्हें गड्ढे से बाहर आने का आग्रह किया गया। समाधि के गड्ढे में दो घंटे से अधिक समय तक लेटने के बाद बाबा की तबियत बिगड़ गई। थाना प्रभारी सिविल लाइन विनय यादव ने बताया कि उन्हें समझाबुझाकर अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *