पुलिस ने किया खुलासा, इन राज्यों में जमकर हो रही थी लड़कियों की तस्करी

रामगढ़ थाना प्रभारी ने बताया कि अपहरण के 5 माह उपरांत पलामू पुलिस अधिकारियों की विशेष टीम ने युवती को मप्र से छुड़ाकर वापस मेदिनीनगर लाया

झारखंड में मानव तस्करी की घटना निरंतर प्रकाश में आ रही हैं. बीते दिनों जनपद पलामू से 19 साल की एक युवती को अगवा कर तस्करी के लिए मध्य प्रदेश ले जाने का मामला प्रकाश में आया है। कथित तौर पर किडनैप व तस्करी के लिए लाई गई युवती को मप्र के छतरपुर से छुड़ा लिया गया है और 3 लोगों को अरेस्ट किया गया है। पुलिस ने यह सूचना दी।

rape

वही रामगढ़ थाना प्रभारी ने बताया कि अपहरण के 5 माह उपरांत पलामू पुलिस अधिकारियों की विशेष टीम ने युवती को मप्र से छुड़ाकर वापस मेदिनीनगर लाया। उन्होंने कहा कि नौकरी का लालच देकर उनके एक पड़ोसी ने उन्हें बहला-फुसलाकर मप्र भेज दिया था. अफसर ने कहा कि पड़ोसी उन तस्करों के संपर्क में था जिनके मानव तस्करों से संबंध हैं। बेटी के बारे में कोई खबर नहीं मिलने पर युवती की मां ने पुलिस से संपर्क किया था और अगस्त 2021 में केस दर्ज कराया था।

इसके साथ ही पुलिस ने कहा कि मेन मुजरिम महिला को पहले छत्तीसगढ़ के रामानुजगंज ले गया तथा फिर मध्य प्रदेश निवासी को 70 हजार रुपए में बेच दिया। उन्होंने कहा कि गुप्त तहरीर पर एक्शन लेते हुए खास टीम ने स्थानीय पुलिस की मदद से छतरपुर जिले के टिकपुर गांव में छापेमारी की तथा लड़की को छुड़ा लिया। साथ ही तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया है।