केंद्रीय खेल मंत्री ने महान भारतीय फुटबॉलर डॉ.तालिमेरेन एओ की 22वीं पुण्यतिथि पर दी श्रद्धांजलि, कहा फुटबॉल को लोकप्रिय…

रिजिजू ने सोशल साइट्स फेसबुक पर लिखा,स्वतंत्र भारत के पहले ध्वजवाहक और लंदन ओलंपिक, 1948 में भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान नागालैंड के डॉ. तालिमेरेन एओ की आज 22 वीं पुण्यतिथि है।

नई दिल्ली, 13 सितंबर, यूपी किरण केंद्रीय खेल मंत्री किरेन रिजिजू ने महान भारतीय फुटबॉलर डॉ.तालिमेरेन एओ की 22वीं पुण्यतिथि पर उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी है। आपको बता दे  रिजिजू ने सोशल साइट्स फेसबुक पर लिखा,स्वतंत्र भारत के पहले ध्वजवाहक और लंदन ओलंपिक, 1948 में भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान नागालैंड के डॉ. तालिमेरेन एओ की आज 22 वीं पुण्यतिथि है। हम भारत में फुटबॉल को लोकप्रिय बनाने के लिए उनकी प्रेरणा और योगदान को हमेशा याद रखेंगे। वहीं डॉ. तालिमेरेन लंदन ओलंपिक में पहली स्वतंत्र भारतीय फुटबॉल टीम के 1948 में कप्तान बने।

29 जुलाई, 1948 को हुई उद्घाटन समारोह में वेम्ब्ली स्टेडियम, लंदन में उन्हें भारतीय समूह के लिए ध्वज धारण का अवसर मिला। फुटबॉल के मैदान में बूट नहीं होने के कारण नंगे पैर ही खेलते थे। यहाँ तक कि 1948 ओलिंपिक में एक ब्रिटिश पत्रकार ने तालिमेरेन से पूछा था कि उनकी टीम नंगे पाँव क्यों खेलती है, तो बहुत ही सकारात्मकता और जोश के साथ उत्तर दिया– खेल का नाम फुटबॉल है, बूटबॉल नहीं।

फुटबॉल के अलावा वह 100 मीटर, 200 मीटर, हाई जंप, ब्रॉड जंप, हॉप-स्टेप-एंड-जंप, जैवलिन, चर्चा, शॉट-पुट और 110 मीटर बाधा दौड़ आदि खेलों में भी हमेशा आगे रहते थे। 1946 और 1947 में हुई तेहरवीं और चौदवी प्रांतीय एथलेटिक चैम्पियनशिप में लगातार दो साल उन्होंने व्यक्तिगत चैम्पियनशिप भी जीती थी।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *