यूपी बीजेपी प्रभारी राधा मोहन सिंह ने की राज्यपाल से मुलाकात, आगे क्या होता है?

पिछले एक सप्ताह से यूपी में नेतृत्व परिवर्तन और मंत्रिमंडल विस्तार के कयास लगाए जा रहे हैं। इस बीच के राष्ट्रीय महासचिव संगठन बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह के अचानक लखनऊ पहुंचकर सीएम योगी, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉक्टर दिनेश शर्मा तथा प्रदेश के तमाम मंत्रियों व वरिष्ठ पदाधिकारियों से अलग-अलग बैठकें की थी।

लखनऊ। उत्तर प्रदेश बीजेपी प्रभारी राधा मोहन सिंह ने रविवार को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल से मुलाकात की है। इस मुलाकात के बाद सूबे में सियासी कयासों का बाजार फिर गर्म हो गया है। सूत्रों के मुताबिक़ मुलाकात के दौरान राधा मोहन सिंह ने राज्यपाल को एक बंद लिफाफा सौंपा है। कहा जा रहा है कि आगे जो होना है, इस लिफ़ाफ़े में दर्ज है। हालांकि प्रदेश बीजेपी प्रभारी ने इस मुलाक़ात को मात्र एक औपचारिक और व्यक्तिगत मुलाक़ात ही बताया है।

राज्यपाल से मुलाकात के बाद यूपी बीजेपी प्रभारी मीडिया से मुखातिब हुए। इस दौरान राधा मोहन सिंह ने सूबे में नेतृत्व परिवर्तन की संभावना को खारिज करते हुए कहा कि योगी सरकार और प्रदेश संगठन बहुत मजबूती के साथ चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि देश में सबसे मजबूत संगठन और सबसे लोकप्रिय सरकार उत्तर प्रदेश में ही काम कर रही है।

राज्यपाल से मुलाकात की ख़ास वजह के बारे में सवाल किये जाने पर राधा मोहन सिंह ने कहा कि पार्टी का प्रदेश प्रभारी बनने के बाद अभी तक राज्यपाल से मुलाकात नहीं कर पाया था, शो मुलाकात करने चला आया। यह सिर्फ एक औपचारिक और व्यक्तिगत भेंट थी। उन्होंने कहा कि कुछ लोग हमेशा कयासों की खेती करते हैं।

उल्लेखनीय है कि पिछले एक सप्ताह से यूपी में नेतृत्व परिवर्तन और मंत्रिमंडल विस्तार के कयास लगाए जा रहे हैं। इस बीच के राष्ट्रीय महासचिव संगठन बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह के अचानक लखनऊ पहुंचकर सीएम योगी, डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य और डॉक्टर दिनेश शर्मा तथा प्रदेश के तमाम मंत्रियों व वरिष्ठ पदाधिकारियों से अलग-अलग बैठकें की थी।

इसके पहले दिल्ली में यूपी को लेकर एक अहम बैठक हुई थी, जिसमे पीएम मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, बीएल संतोष और प्रदेश प्रभारी राधा मोहन सिंह के अलावाआरएसएस के सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबाले भी शामिल थे। इस बैठक के बाद ही यूपी में सरकार व पार्टी संगठन में बदलाव के कयासों को बल मिला।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *