UP: महामारी पड़ सकती है भारी फिर भी आयुर्वेद निदेशालय में चल रहा कुर्सी का खेल

सूबे के आयुर्वेद सेवायें के निदेशक प्रो एस एन सिंह ने काम चलाऊ व्यवस्था के तहत डा अशोक कुमार राना को मुख्यालय पर दोहरा चार्ज दिया है।

लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जनता से बार—बार कोरोना के बचाव उपायों को अपनाने की अपील कर रहे हैं। खुद चीफ सेक्रेटरी राजेन्द्र कुमार तिवारी ने भी पत्र जारी कर कोरोना से बचाव की ताकीद की है। पर निदेशक आयुर्वेद सेवायें प्रो एस एन सिंह पर उन आदेशों का कोई असर होता नहीं दिख रहा है। वह भी ऐसे समय में जब दिल्ली में कोरोना मरीजों का ग्राफ तेजी से बढ रहा है। उन्होंने उसी समय देश की राजधानी के निकटस्थ जिले गाजियाबाद के क्षेत्रीय आयुर्वेदिक व यूनानी अधिकारी डा अशोक कुमार राना को मुख्यालय पर भी एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है। उन्हें आयुर्वेद निदेशालय में औषधि निरीक्षक के पद का भी चार्ज दिया गया है। कोरोना वायरस महामारी के समय निदेशक का लिया गया यह फैसला प्रदेश में आयुर्वेद सेवाओं के कार्यप्रणाली की पोल खोल रहा है।

s n singh

सूबे के आयुर्वेद सेवायें के निदेशक प्रो एस एन सिंह ने काम चलाऊ व्यवस्था के तहत डा अशोक कुमार राना को मुख्यालय पर दोहरा चार्ज दिया है। जानकारों का कहना है कि इस समय कोरोना के बढते मरीजों की संख्या को देखते हुए गाजियाबाद जैसे बड़े जिले में महकमे को सतर्कता और सजगता की खासी आवश्यक्ता है। कोरोना महामारी की रोकथाम में यह सतर्कता तो नहीं दिख रही है। उसके उलट ऐसे समय में चहेतों को मनमाफिक कुर्सी सौंपने का खेल चल रहा है।

विभागीय जानकारों के मुताबिक निदेशक का यह कदम सरकार की मंशा के विपरीत है। एक तरफ सीएम योगी आदित्यनाथ खुद लोक सेवकों को व्यवस्था के कील कांटे दुरूस्त रखने की हिदायत देते रहे हैं। पर निदेशक आयुर्वेद सेवायें को काम चलाऊं व्यवस्था पर ही भरोसा है।

बता दें कि आयुर्वेद निदेशालय के राजधानी स्थित मुख्यालय पर औषधि निरीक्षक का पद सृजित है। सामान्यत: इस पद की जिम्मेदारी मुख्यालय पर ही तैनात किसी अधिकारी को दी जाती है। पर औषधि निरीक्षक के पद का जिम्मा डा अशोक कुमार राना को सौंप दिया गया। जबकि वह पहले से गाजियाबाद के क्षेत्रीय अधिकारी हैं। कोरोना महामारी के संकट काल में उन्हें दोहरा चार्ज दिया गया है। यही वजह है कि निदेशक का यह फैसला गड़बड़ियों की तरफ इशारा कर रहा है।

गाजियाबाद के क्षेत्रीय आयुर्वेदिक व यूनानी अधिकारी डा अशोक कुमार राना को मुख्यालय पर औषिधि निरीक्षक का चार्ज दिए जाने के संबंध में जब डायरेक्टर से जानकारी चाही गयी तो उन्होंने कहा कि हाँ, डॉ अशोक कुमार राना को मुख्यालय पर भी औषिधि निरीक्षक का चार्ज दिया गया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *