यूपी राज्यसभा चुनाव: अलका दास गुप्ता भी करेंगी नामांकन, खरीदा पर्चा

भाजपा ने आठ और समाजवादी पार्टी व बहुजन समाज पार्टी ने एक-एक प्रत्याशी मैदान में उतारा है। इसके कारण सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय था। अलका दास गुप्ता के मैदान में आने से मतदान करना पड़ सकता है। मंगलवार को नामांकन का अंतिम दिन है।

यूपी राज्यसभा चुनाव में पूर्व केंद्रीय मंत्री स्वर्गीय अखिलेश दास की पत्नी अलका दास गुप्ता ने नामांकन दाखिल करने का मन बनाया है। उन्होंने नामांकन पत्र खरीदा है और माना जा रहा है कि वह निर्दलीय नामांकन पत्र दाखिल करेंगी। उत्तर प्रदेश की दस राज्यसभा की सीटों के लिए नौ नवंबर को मतदान होगा।

UP Rajya Sabha elections: Alka Das Gupta will also nominate, bought form

भाजपा ने आठ और समाजवादी पार्टी व बहुजन समाज पार्टी ने एक-एक प्रत्याशी मैदान में उतारा है। इसके कारण सभी का निर्विरोध निर्वाचन तय था। अलका दास गुप्ता के मैदान में आने से मतदान करना पड़ सकता है। मंगलवार को नामांकन का अंतिम दिन है।

अलका दास उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री बाबू बनारसी दास की पुत्रवधु और पूर्व केंद्रीय मंत्री की पत्नी अखिलेश की पत्नी हैं। अलका दास गुप्ता ने मंलगवार को सुबह नामांकन पत्र खरीदा है। माना जा रहा है कि वह निर्दलीय के रूप में नामांकन कर सकती हैं।

एलएलबी, एमबीए अलका दास गुप्ता लखनऊ में बाबू बनारसी दास यूनिवर्सिटी की कुलाधिपति हैं। इसके साथ ही वह बीबीडी ग्रुप ऑफ एजुकेशन की सह-संस्थापक और बीबीडी एजुकेशनल ट्रस्ट की सचिव और कोषाध्यक्ष हैं। विख्यात सामाजिक कार्यकर्ता तथा अधिवक्ता अलका दास गुप्ता जस्टिस स्वर्गीय डीपी गुप्ता की बेटी हैं। वह राजस्थान में राज्यपाल और मुख्य न्यायाधीश रहे थे। वह राजस्थान उच्च न्यायालय बार एसोसिएशन की आजीवन सदस्य भी हैं। इसके साथ वह विराज ग्रुप ऑफ ऑटोमोबाइल्स की निदेशक भी हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *