UP : बच्चे के पिता को किया ये मैसेज फिर शिक्षक ने कर दी मासूम की हत्या

शाहगंज कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत नगर के अयोध्या मार्ग स्थित गौशाला के समीप शनिवार देर रात उस समय हड़कंप मच गया, जब पैथालॉजी संचालक के सात वर्षीय बालक की फिरौती की रकम न देने पर अपहरणकर्ताओं ने हत्या कर दी।

जौनपुर। शाहगंज कोतवाली थाना क्षेत्र अंतर्गत नगर के अयोध्या मार्ग स्थित गौशाला के समीप शनिवार देर रात उस समय हड़कंप मच गया, जब पैथालॉजी संचालक के सात वर्षीय बालक की फिरौती की रकम न देने पर अपहरणकर्ताओं ने हत्या कर दी। पुलिस के अनुसार हत्या करने का वाला उसको पहले ट्यूशन पढ़ाने वाला शिक्षक ही है।
Deceased child Jaunpur

यूकेजी का छात्र था

अयोध्या मार्ग स्थित गौशाला के समीप दीपचंद यादव रहते हैं। जो बीबीगंज में पैथोलॉजी चलाते हैं। उनका सात वर्षीय पुत्र अभिषेक घर से थोड़ी दूर पर साउथ इंडियन स्कूल में यूकेजी का छात्र था। अभिषेक कॉलोनी में ही एक ट्यूटर के पास ट्यूशन के लिए राेज की तरह शनिवार की सुबह करीब 10 बजे निकला, लेकिन वहां नहीं पहुंचा।
पहले तो अपहरण की घटना से अनजान परिवार वाले उसकी तलाश करते रहे। इस बीच शाम को अपहृत बालक के पिता के मोबाइल पर एक मैसेज आया। उसमें लिखा गया था कि बच्चे का अपहरण कर लिया गया है। फिरौती के रूप में सात लाख रुपए दिया जाए नहीं तो बच्चे की जान ले ली जाएगी। अपहरणकर्ताओं ने पुलिस को सूचना देने पर अंजाम भुगतने की धमकी दिया था। घटना की जानकारी कोतवाली पुलिस को दी गई।
सूचना पर कोतवली पुलिस व क्षेत्राधिकारी अंकित कुमार मामले की छानबीन में जुट गये। मामले में बच्चे के बड़े पिता राम भुवन ने बताया कि बच्चा सुबह ट्यूशन के लिए गया और शाम को उसके पिता के मोबाइल पर 7 लाख रुपये फिरौती मांगी गयी।
पुलिस अधीक्षक राजकरन नैयर ने रविवार को बताया कि कल शाम को 5 बजे दीपचंद द्वारा शाहगंज थाने पर तहरीर दी गई कि उनका पुत्र अभिषेक रोज सुबह 10 बजे कोचिंग पढ़ने जाता था। शाम को लगभग 3 बजे करीब उनके मोबाइल पर एसएमएस आया उसमें यह कहा गया कि उनके बेटे का अपहरण कर लिया गया है और फिरौती मांगी गई है।  इस मामले की गंभीरता को देखकर छह टीमें बनाई गयीं।

पहले से घर आना जाना था

जिस नंबर से एसएमएस आया था उस उपभोक्ता तक पहुंचा गया तो उसने बताया कि दोपहर में लगभग 12 से 12:30 बजे के करीब दो मोटरसाइकिल सवार लोगों के द्वारा उसे फोन करने के लिये उसका फोन मांगा और फरार हो गए। इसी क्रम में आगे पता करते हुए वादी की घर से 100 मीटर दूर किराए का मकान लेकर रहने वाले ही 2 लोगों से पुलिस द्वारा पूछताछ की गई तो पता चला कि शिवम कुमार श्रीवास्तव व आकाश कुमार जो आईटीआई के छात्र हैं। शिवम कुमार का वादी की घर पहले से आना जाना था और बच्चा पहले उसी से ट्यूशन पढ़ता था। बाद में उसने उसको छोड़ कर कहीं और कोचिंग करना शुरू कर दिया था।

शोर मचाने पर गला घोटकर हत्या कर दी

पूछताछ के द्वारा बताया गया कि सुबह 10 बजे अभिषेक कोचिंग पढ़ने के लिए घर से निकला था तो शिवम के द्वारा बच्चे को कहीं घुमाने फिराने के लिए बच्चे को बाइक पर बैठा कर जमुनिया के पास एक पानी टंकी के पास ले जाया गया। बच्चे के शोर मचाने पर उसने मफलर से गला घोटकर हत्या कर दी।  इसके बाद यह दोनों मोबाइल छीनने के लिए गए। फिर उस मोबाइल को बेचकर एक नया मोबाइल खरीद कर बच्चे के पिता को एसएमएस किया गया। पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *