UP: दलित किशोरी के साथ Toilet में घुसकर गैंगरेप, थाने पहुंची पीड़िता को पुलिस ने…

अब एटा में एक दलित किशोरी से गैंगरेप की घटना हुई है. घटना के बाद से गैंगरेप पीड़िता अपने परिवार के साथ थाने और तहसील के चक्कर लगा रही है लेकिन परिवार की सुनवाई अब तक कहीं नहीं हुई है.

एटा। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार में बेटियों के साथ दरिंदगी की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही हैं. साथ ही बेटियां न्याय के लिए दर-दर भटकने को भी मजबूर हैं. पुलिस की बेरुखी से मायूस के चलते बेटियां आत्महत्या भी करने को मजबूर हो रही हैं. बुलंदशहर में ऐसी ही घटना से हड़कंप मचा है. वहां दो बेटियों ने पुलिस की बेरुखी के चलते जान दे दी. अब एटा में एक दलित किशोरी से गैंगरेप की घटना हुई है. घटना के बाद से गैंगरेप पीड़िता अपने परिवार के साथ थाने और तहसील के चक्कर लगा रही है लेकिन परिवार की सुनवाई अब तक कहीं नहीं हुई है.

gangrape 1

आरोप है कि पूर्व प्रधान और उसके दो साथियों ने मिलकर किशोरी के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया. पीड़ित किशोरी 6 साल के छोटे बच्चे को शौच के लिए ले गई थी. आरोप है कि शौचालय के अंदर ही गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया गया.

थाने से भगाने का आरोप

पीड़िता के अनुसार, घटना को अंजाम देने वालों में पूर्व प्रधान राजीव, अनिल और आकाश शामिल थे. इन तीनों ने बारी-बारी से उसके साथ रेप किया. पीड़िता और उसकी मां थाने पहुंची तो थाने से उसको भगा दिया गया, जिसके बाद न्याय की उम्मीद लेकर पीड़िता मंगल दिवस पर अलीगंज न्याय की उम्मीद लेकर पहुंची. परिजनों को उम्मीद थी कि शायद उच्च अधिकारी उसकी बात सुनेंगे और उसको न्याय दिलाएंगे. लेकिन यहां से भी उन्हें मायूस लौटना पड़ा. अब पीड़ित परिवार दर-दर भटक रहा है.

पुलिस बोली

अपर पुलिस अधीक्षक ओपी सिंह ने बताया कि जांच में मामला सही पाया गया है और आरोपियों खिलाफ मामला दर्ज किया जा रहा है. आरोपियों को भी जल्द गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *