Uttar Pradesh: दो मई से लगेगा छोटे बच्चों और गर्भवती को टीका, चलाया जायेगा विशेष अभियान

टीकाकरण से छूटीं 3145 गर्भवती और शून्य से दो वर्ष तक के 12666 बच्चों को बारह प्रकार की बीमारियों से बचाने के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष...

कुशीनगर। टीकाकरण से छूटीं 3145 गर्भवती और शून्य से दो वर्ष तक के 12666 बच्चों को बारह प्रकार की बीमारियों से बचाने के लिए सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान का तीसरा चरण चलेगा। यह अभियान दो से बारह मई तक चलेगा। सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 अभियान के तहत वह लाभार्थी भी प्रतिरक्षित किए जाएंगे जो ईंट भट्टों पर काम करते हैं , या चलवासी( घुमंतू) जिन्दगी जीते हैं। शत प्रतिशत टीकाकरण के लिए कुल 1559 सत्र आयोजित किए जाएंगे।

Intensive Mission Indradhanush Abhiyan

जिला प्रतिरक्षण अधिकारी (डीआईओ) डॉ. संजय गुप्ता ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण के दौरान या अन्य कारणों से जो बच्चे व गर्भवती नियमित टीकाकरण से वंचित रह गए हैं, उन सभी के टीकाकरण के लिए शासन का दिशा-निर्देश है। सघन मिशन इंद्रधनुष 4.0 अभियान के तहत दो चरण का टीकाकरण पूरा हो चुका है। तीसरा चरण दो से बारह मई तक चलेगा।

उन्होंने लाभार्थियों से अपील की है कि टीकाकरण से वंचित लाभार्थी को सत्र स्थल पर ले जाकर टीकाकरण जरूर करवा लगवा लें। सरकारी अस्पताल का टीका निःशुल्क और कारगर है।डीआईओ ने बताया कि तीसरे चरण में चलने वाले सघन मिशन इंद्रधनुष- 4.0 अभियान के लिए तैयारी पूरी कर ली गयी है। अभियान में कुल 415 एएनएम ,2390 आशा तथा 1709 आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को लगाया जाएगा। पर्यवेक्षण के लिए 102 सुपरवाइजर भी लगाए गए हैं।

अभियान में लगेंगे यह टीके

सघन मिशन इंद्रधनुष अभियान में जन्म के समय बीसीजी, पोलियो और हेपेटाइटिस बी, शून्य से दो वर्ष तक के बच्चों को पेंटावैलेंट, रोटा वायरस , ओपीवी, रोटा वैक्सीन, आईपीवी, मिजिल्स रूबेला , विटाविन.ए, डीपीटी बूस्टर डोज, जेई बूस्टर डोज और डीपीटी बूस्टर ओपीवी और पीसीवी के टीके लगाए जाएंगे। इसके अलावा अभियान में गर्भवती को टीडी का टीका लगाया जाएगा।

दो चरणों में टीकाकरण की उपलब्धि

पहला चरण सात से 15 मार्च
लाभार्थी लक्ष्य  उपलब्धि
0-2 वर्ष 16486    25200
गर्भवती  3977    6099

दूसरा चरण चार से 12 अप्रैल
लाभार्थी   लक्ष्य -उपलब्धि
0-2 वर्ष 12568    22402
गर्भवती  3337   5919