वोडाफोन-आडिया का नया लोगो लॉन्‍च, अब इस नाम से जाना जायेगा

कंपनी ने 'Vi' के तौर पर अपने आप को रीब्रांड किया है। इस तरह कंपनी ने लोगों के बीच में अपनी पूरी तरह से एक नई पहचान बनाने की कोशिश की है।

नई दिल्‍ली, 07 सितम्‍बर । संकट की दौर से गुजर रही निजी क्षेत्र की टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन-आइडिया ने सोमवार को अपने ब्रांड की रीलॉन्चिंग की है। कंपनी ने ‘Vi’ के तौर पर अपने आप को रीब्रांड किया है। इस तरह कंपनी ने लोगों के बीच में अपनी पूरी तरह से एक नई पहचान बनाने की कोशिश की है।

voda idea
आधिकारिक तौर पर जारी एक बयान में कहा गया है कि अगस्त 2018 में वोडाफोन इंडिया और आइडिया सेल्युलर के विलय से बनी वोडाफोन-आइडिया लिमिटेड ने अपनी एक नए ब्रांड की घोषणा की है। इस कंपनी को अब Vi नाम से जाना जाएगा।

कंपनी के मुख्‍य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) रविन्दर टक्कर ने नए ब्रांड को लॉन्‍च करते हुए कहा कि वोडाफोन-आइडिया का विलय 2 साल पहले हुआ था। हम तबसे दो बड़े नेटवर्क हमारे लोगें और प्रोसेस के एकीकरण की दिशा में काम कर रहे थे।

कंपनी ने अब टैरिफ में भी बढ़ोतरी के संकेत दिए

उन्होंने कहा कि Vi ब्रांड को पेश करते हुए मुझे बहुत खुशी हो रही है। कंपनी के सीईओ ने कहा कि यह अहम कदम है। इसके साथ ही एकीकरण की प्रक्रिया पूरी हो गई है। टक्‍कर ने कहा कि नए लोगो में V वोडाफोन और i आइडिया के लिए है। इसके साथ ही कंपनी ने अब टैरिफ में भी बढ़ोतरी के संकेत दिए हैं।

रविन्दर ने कहा कि कंपनी पहले कदम के तौर पर टैरिफ में बढ़ोतरी के लिए तैयार है। नए टैरिफ से कंपनी को एआरपीयू सुधारने में मदद भी मिलेगी। ये अभी 114 रुपये है, जबकि एयरटेल और जियो का एपीआरयू क्रमशः 157 रुपये और 140 रुपये है।

गौरतलब है कि कंपनी के बोर्ड ने हाल में इक्विटी शेयर जारी करके या ग्लोबल डिपोजिटरी रिसीट, अमेरिकन डिपोजिटरी रिसीट, फॉरेन करेंसी बॉन्ड्स, कंवर्टिबल डिबेंचर्स के जरिए 25 हजार करोड़ रुपये जुटाने के प्रस्ताव को अपनी मंजूरी दी थी। नकदी संकट में फंसी कंपनी को इससे बहुत राहत मिलने की उम्मीद है। कंपनी को बकाया एजीआर के रूप में सरकार  को 50,000 करोड़ रुपये का भुगतान करना है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close