सात करोड़ से राजकीय विद्यालयों में लगेंगे वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम

बारिश के पानी को व्यवस्थित किए जाने को लेकर माध्यमिक शिक्षा विभाग ने पहल प्रारम्भ कर दिया है। इसके तहत जिले के सभी राजकीय माध्यमिक विद्यालयों, इंटर कॉलेजों व जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का कार्य होगा। जिस पर कुल सात करोड़ से अधिक की धनराशि व्यय होगी।

अमित श्रीवास्तव

महराजगंज। बारिश के पानी को व्यवस्थित किए जाने को लेकर माध्यमिक शिक्षा विभाग ने पहल प्रारम्भ कर दिया है। इसके तहत जिले के सभी राजकीय माध्यमिक विद्यालयों, इंटर कॉलेजों व जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम लगाने का कार्य होगा। जिस पर कुल सात करोड़ से अधिक की धनराशि व्यय होगी।

आज के समय मे पानी सभी के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण आवश्यकता बन चुका है। बारिश के पानी की बर्बादी से भी समस्या होती है ऐसे में उसे व्यवस्थित किए जाने को लेकर विद्यालयो व जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम की स्थापना पर जोर दिया जा रहा है। जिम्मेदारो का मानना है कि उसके लगाए जाने से जहां पानी का बेहतर प्रबंध हो सकेगा वहीं बर्बादी भी रुकेगी। जिला विद्यालय निरीक्षक अशोक कुमार सिंह ने कहा कि जल संरक्षण की दृष्टि से हार्वेस्टिंग सिस्टम अत्यंत कारगर है, विद्यालयों में इसकी स्थापना के लिए सात करोड़ से अधिक का प्रस्ताव भेजा गया है।

ashok kumar singh

इन स्थलों पर होगी वाटर हार्वेस्टिंग की स्थापना

जिले के चार राजकीय इंटर कॉलेज, दो राजकीय मॉडल स्कूल व 22 राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों में वाटर हार्वेस्टिंग की स्थापना होगी। इसके साथ ही जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के भी इसकी स्थापना कराई जाएगी।

23 से 35 लाख रुपए तक होंगे व्यय

वाटर हार्वेस्टिंग की स्थापना में प्रत्येक पर 23 से 35 लाख रुपए तक व्यय होने का अनुमान है। राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में 23 लाख, राजकीय इंटर कालेज व मॉडल स्कूल में 30 लाख तथा जिला विद्यालय निरीक्षक कार्यालय के 35 लाख व्यय होंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *