मुख्यमंत्री योगी ने सपा , बसपा और कांग्रेस के बारे में क्या कहा !

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2 नवंबर 1990 को प्रदेश में भाजपा की सरकार होती तो अयोध्या में रामभक्तों पर गोली चलाने का दुस्साहस कोई नहीं करता।

लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि 2 नवंबर 1990 को प्रदेश में भाजपा की सरकार होती तो अयोध्या में रामभक्तों पर गोली चलाने का दुस्साहस कोई नहीं करता। विपक्ष पर निशाना साधते हुए उन्होंने कहा कि रामद्रोहियों ने कारसेवकों पर गोलियां चलवाई, हमें याद रखना होगा कि जो राम के नहीं हो सकते वे हमारे किसी काम के नही ।

उन्होंने कहा कि अर्थव्यवस्था मजबूत होगी तो हर एक व्यक्ति के चेहरे पर मुस्कान होगी। व्यापार में शांति और सौहार्द का महत्व व्यापारी वर्ग समझता है। पहले गुंडा टैक्स वसूला जाता था, संपत्ति पर कब्जा किया जाता था, लेकिन कोई उनके खिलाफ बोलता नहीं था। व्यापारी समाज सबसे ज्यादा पीड़ित था । मुख्यमंत्री ने गुरुवार को लखनऊ में आयोजित एक सामाजिक सम्मलेन में मुख्य अतिथि के रूप शामिल हुए थे और लोगो को संबोधित करते हुए यह सब कहा !

उन्होंने कहा कि यह देखना होगा कि शांति और सौहार्द के दुश्मन कौन हैं। जब भी उनके हाथ में सत्ता आएगी तो पेशेवर अपराधी और माफिया निर्दोष लोगों व व्यापारियों के जीवन पर खतरे की तरह मंडराएंगे। लेकिन बीते साढ़े चार साल में कोई माफिया खुलेआम नहीं घूम सकता है,

किसी व्यापारी की संपत्ति पर कब्जा नहीं कर सकता है। उन्होंने कहा कि पहले जो माफिया सत्ता के संरक्षण में तबाही मचाते थे आज उनकी खुद की तबाही हो रही है।

मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सत्ता को माफिया के हाथ गिरवी रख दिया जाता था। पर अब दुनिया जान चुकी है कि प्रदेश में अपराधियों के प्रति शासन की मंशा क्या है। सीएम ने कहा कि सपा, बसपा और कांग्रेस की सरकारों ने प्रदेश में जातिवाद, परिवारवाद को बढ़ावा देकर दंगों की आग में झोंका था। लेकिन भाजपा सरकार ने साढ़े चार वर्ष में प्रदेश को भय, अपराध और दंगामुक्त कर देश में यूपी के प्रति नई धारणा स्थापित की है। कार्यक्रम में नगर विकास मंत्री आशुतोष टंडन, भाजपा प्रदेश महामंत्री प्रियंका रावत, बृज बहादुर और ओबीसी मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष नरेंद्र कश्यप मुख्य रूप से शामिल थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *