प्रेग्नेंसी में डाइट प्लान क्या होना चाहिए, बच्चे के सही विकास के लिए जरूर खाएं ये चीजें

नई दिल्ली: गर्भावस्था हर महिला के जीवन का एक बहुत ही महत्वपूर्ण समय होता है। थोड़ा सा जीवन सुरक्षित रखने की जिम्मेदारी शरीर की होती है। खुद को और अपने बच्चों को स्वस्थ रखने की जिम्मेदारी आपकी है। ऐसे में आपको हेल्दी डाइट लेनी चाहिए। आपका खान-पान शिशु के विकास को प्रभावित करता है। प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाएं तरह-तरह की चीजें खाना पसंद करती हैं। कुछ लोग बिना सोचे-समझे जो चाहें खा लेते हैं। ऐसे में जंक फूड और फ्राइड रोस्ट खाने से आपको परेशानी हो सकती है। इससे बच्चे का विकास भी प्रभावित होता है। आइए जानते हैं प्रेग्नेंसी के दौरान आपका डाइट प्लान क्या होना चाहिए?

ed96647bbfb49e412f245ec795e8f51f_0 (1)गर्भावस्था में आहार योजना

1- प्रेग्नेंसी में महिलाओं को समय-समय पर कुछ न कुछ खाते रहना चाहिए।
2- इससे महिलाओं में अपच और उल्टी की समस्या कम होती है।
3- गर्भवती महिलाओं को ज्यादा फास्ट फूड, जंक फूड नहीं खाना चाहिए।
4- अधिक तला-भुना और मसालेदार-मसालेदार खाने से बचें।
5- गर्भावस्था के दौरान विटामिन, आयरन और फोलिक एसिड की गोलियां लेनी चाहिए।
6- गर्भावस्था की शुरुआत में 3 महीने तक फोलिक एसिड पिलाना चाहिए।
7- इसके बाद दूसरी और तीसरी तिमाही में कैल्शियम और आयरन देना चाहिए।
8- रोजाना कम से कम 10 से 12 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए।
9- आयरन की कमी को दूर करने के लिए अंकुरित दालें, हरी पत्तेदार सब्जियां, गुड़ और तिल का सेवन करें।
10- गर्भावस्था के दौरान उपवास से बचें और कच्चा दूध न पिएं।
11- गर्भावस्था के दौरान धूम्रपान और शराब का सेवन न करें।
12- भीगे हुए मेवे खाएं और कैल्शियम के लिए अंजीर खाएं।
13- गर्भावस्था के दौरान सब्जियों का सूप और फलों का जूस पिएं।
14- प्रोटीन के लिए आप दूध, मूंगफली, पनीर, काजू, बादाम, दालें, मांस, मछली, अंडे खा सकते हैं।
15- फोलिक एसिड की कमी को पूरा करने के लिए दाल, राजमा, पालक, मटर, मक्का, हरी सरसों, भिंडी, सोयाबीन, चना, स्ट्रॉबेरी, केला, अनानास और संतरा खाएं।
16- गर्भावस्था में आपको साबुत अनाज, दलिया और आटे की रोटी खानी चाहिए।