बीवी-आशिक की आंखे फोड़ने वाले ने बताया- मेरे सामने ही उससे चिमट रही थी, हाथ में ले रखा था॰॰॰

खरगोन॥ एक दिन शाम को आवास पर लौटा तो देखा कि बीवी रानी ने हाथ भट्‌टी दारू (कच्ची) पी रखी है। मैंने सोचा दारू कौन लाकर पिला गया। पूछा तो रानी ने कहा कि एक व्यक्ति मजदूरी के पैसे देने आया था। उसने दारू पिलाई। मुझे उस दिन से शंका हो गई कि बीवी का किसी से चक्कर है। शनिवार को डेयरी का राजा उर्फ राजू आया। उसने साथ में दारू पी।

woman

इसके बाद उसने कहा कि यहीं सो जाता हूं। मैंने कहा ठीक है। हम तीनों खाना खाकर सो गए। देर रात्रि 12 बजे मुझे आवाज आई। मेरी नींद खुली। मैंने देखा कि रानी व राजू लिपटे हुए हैं। मुझे गुस्सा आया। घर में रखी लट्‌ठ उठाई और दोनों को पीटने लगा। वे चिल्लाते रहे, मगर मैं गुस्से में पीटता रहा। दोनों बेसुध हो गए। खून बहने लगा।

इसके बाद मैंने राजू को उसकी बाइक पर लादकर पुलिया के पास फेंक आया। बीवी का शव घर पर ही पड़ा रहा। रात में सो गया। सुबह दारू पीकर ग्रामीणों के पास पहुंचा और बीवी को कुछ होने की जानकारी दी। हाथ, चप्पल पर खून के निशान व रवींद्र का शव मिलने से लोगों ने पकड़ लिया। सोमवार को खुलासा हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *