आप भी करने जा रहे हैं नए रिश्ते की शुरुआत तो भूलकर भी न करें ये गलतियां, नहीं तो रिश्ता होगा खराब

ऐसी बातों को नजरअंदाज करने की जरूरत होती है। आइए जानते हैं कि जब प्यार का रिश्ता नया हो तो किन गलतियों से बचना चाहिए…

लाइफस्टाइल। अगर आप नए रिश्ते की शुरुआत करने जा रहे हैं तो आपको कुछ बातें जानना जरूरी हैं। दरअसल हर एक शख्स यही चाहता है कि उसका  पार्टनर उसको समझे। साथ ही हर एक अच्छी बुरी बातें बताए। लेकिन इस चक्कर में कभी -कभी आप ऐसी भी होता है कि हम कई बाते शेयर कर बैठते है जो आपको नहीं करनी चाहिए।

या शायद जिसे सुन कर आपका पार्टनर थोडा परेशान हो सकता है। ऐसी बातों को नजरअंदाज करने की जरूरत होती है। आइए जानते हैं कि जब प्यार का रिश्ता नया हो तो किन गलतियों से बचना चाहिए…

live-in-relationship

पुराने रिलेशनशिप के बारे में बात ना करें

कोई भी इंसान चाहे वो लड़का हो या लड़की अपने पार्टनर के बीते हुए कल के बारे में जानना पसंद नहीं करता। अगर आप लगातार अपने एक्स के बारे में अपने डेट पर बात करेंगे तो इसे आप दोनों में दूरिय आ सकती है। उससे आपके पार्टनर को लग सकता है कि आप अब भी अपने एक्स के लिए फीलिंग्स रखते हैं। सामने वाले व्यक्ति के लिए यह असहज हो सकता है।

एक हद तक शेयर करें पुराना दर्द

इनसिक्योरिटीज सबको होती है लेकिन उन्हें खुद पर हावी नहीं होने देना चाहिए। पिछले रिलेशनशिप में व्यक्ति ने आपको जितना भी परेशान किया या दुख पहुंचाया हो, उस दर्द को खुद तक रखें। अपनी फीलिंग शेयर कर दुःख बांटना ठीक है लेकिन बार बार उसी चीज़ को दोहराते रहना आपके नए बन रहे रिश्ते को बीच में तोड़ सकता है ।

जैसे है वैसे ही रहे

आप अपनी वास्तविकता में बदलाव ना ले। ऐसे पार्टनर का चुनाव करें जो आपको समझे। अगर आप सामने वाले के लिए खुद में बदलाव करने लगेंगे तो आपके रिश्ते में वास्तविकता की कमी रहेगी।

खुद को भी समय दें

ऐसा अक्सर होता है कि सुरु में आप अपने पार्टनर के इतने करीब आ जाते है कि इसकी कमी बाद में लगने लगती है। जो बाद में रिश्ते को ख़राब कर देरी है। अपने पार्टनर को उसका समय दे साथ ही अपने लिए भी समय निकले और दोस्तों के साथ टाइम स्पेंड करें। कुछ रिश्ते ऐसे भी होते हैं, जो जीवन भर काम नहीं करते इसलिए परिवार और दोस्तों से किनारा करके अपने पार्टनर को ही दुनिया नहीं बनाएं।

सपोर्टिव पार्टनर बने

हर इंसान समजदार और सपोर्टिव पार्टनर चाहता है। जो उसे समझे जरूरत पड़ने पर उनके लिए खड़े रहें और सबसे अहम बात है कि दोस्त बनाना न भूलें क्योंकि हर रिश्ता वहीं से शुरू होता है।

बदलाव लाने का प्रयास न करें

अगर अपने रिश्ते को काफी लम्बा लेकर जाना चाहते हैं, तो सामने वाले को समझें और उसमें बदलाव लाने का प्रयास न करें। अगर उसकी कोई बात या आदत अच्छी नहीं लगती तो वहां से निकल जाएं लेकिन उसे बदलने की कोशिश न करें।

जीवन में बदलाव के फैसले ना लें

रिश्ता बनान और उस रिश्ते को दूर तक ले जान आसान काम नहीं। आर्म से ये सोच लें की क्या आप अपने पार्टनर के साथ खुश हैं। क्या आप उसके साथ अपना जीवन बिता सकते हैं। जल्द बाज़ी में किए हुए फैसले अल्सर बाद में दुख देने लगती है। इसलिए पूरी तरह से कमिटमेंट के बिना इस तरह के फैसले आपको नहीं लेने चाहिए। एक-दूसरे को जानना सबसे अहम चीज है, उसके बाद ही कोई निर्णय लिया जा सकता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *