GST छींन रही है रोजी-रोटी, वाराणसी में रैली निकालकर अशोक विश्वकर्मा ने किया विरोध

img

वाराणसी/लखनऊ ।। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में हस्तशिल्प उद्योग बर्बादी के कगार पर है। इसमें लगे लाखों पुश्तैनी कारीगर बेरोजगारी के चलते भुखमरी के शिकार हो रहे हैं। विश्वकर्मा समाज ने शिल्पकारों के रोजी-रोटी से जुड़े अधिकार तथा सामाजिक स्वाभिमान एवं धार्मिक आस्था से जुड़े हुए विश्वकर्मा पूजा पर्व अवकाश की बहाली तथा प्रदेश में दस्तकार शिल्पकार विकास निगम की स्थापना सहित हस्तशिल्प उद्योग पर जीएसटी लगाए जाने के विरोध में आज टाउन हाल स्थित गांधी भवन से एक विशाल विश्वकर्मा शिल्पकार अधिकार संदेश यात्रा निकाली।

यह अधिकार संदेश यात्रा शहर के लहुराबीर नई सड़क गोदौलिया होते हुए सिंहद्वार बीएचयू से वापस रथ यात्रा मार्ग से शहीद उद्यान पहुंचकर सभा में परिवर्तित हो गई। ऑल इंडिया यूनाइडेट शिल्पकार विश्वकर्मा महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा ने कहा कि सरकार ने मेहनतकश कामगारों को निराश किया है। वाराणसी का परंपरागत हस्तशिल्प कुटीर उद्योग पूरी तरह से विलुप्त और बर्बाद होने के कगार पर है, सरकार ने हस्तशिल्प उत्पाद तथा हाथ से बने हुए लकड़ी के फर्नीचर पर 12 से 28 फ़ीसदी जीएसटी लगाकर घोर अन्याय किया है, जिसका सीधा प्रभाव परंपरागत पेशे से जुड़े हुए कारीगरों और कुटीर उद्योग धंधों पर पड़ेगा।

सभा में अन्य वक्ताओं ने कहा कि जीएसटी ने नोटबंदी की भांति पूरे देश की बाजारु अर्थव्यवस्था में अफरा-तफरी का माहौल पैदा कर दिया है, जिसके चलते उपभोक्ता भी जीएसटी के नाम पर शोषण के शिकार हो रहे हैं, हाथ की कारीगरी करने वाले कारीगरों द्वारा बनाए गए वस्तुओं पर सरकार जीएसटी के माध्यम से कर वसूल रही है, लेकिन इन कारीगरों के आर्थिक दशा में सुधार के लिए सरकार की कोई ठोस योजना या रणनीति नहीं है, जो अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है नेताओं ने सरकार से मांग की है कि हस्तशिल्प उत्पाद को पूर्व की भांति कर मुक्त रखा जाए।

विश्वकर्मा पूजा पर्व के अवकाश को बहाल करने के साथ ही दस्तकार शिल्पकार विकास निगम की स्थापना की जाए यात्रा जुलूस में गाड़ियों पर अपनी मांगों से संबंधित स्लोगन एवं प्रभावशाली आकर्षक नारे लिखे हुए तथा पारंपरिक औजारों के कटआउट शिल्पकारी के काम से जुड़े हुए चित्र लगे हुए थे। इस में बड़ी संख्या में बाइक सवार संगठन की टोपी लगाए हुए परंपरागत औजार हथौड़ा एवं आरी लिए हुए तथा मांगो से संबंधित तख्तियां लिए हुए नारे लगाते चल रहे थे यात्रा का नेतृत्व राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अशोक कुमार विश्वकर्मा कर रहे थे।

कार्यक्रम में प्रमुख रूप से ओंकारनाथ विश्वकर्मा बचाऊ लाल विश्वकर्मा रमेश विश्वकर्मा भरत विश्वकर्मा भैरव विश्वकर्मा संतोष विश्वकर्मा रामबाबू विश्वकर्मा कन्हैया विश्वकर्मा शुभम विश्वकर्मा गोविंद विश्वकर्मा मोहित विश्वकर्मा सोनू राधेश्याम विश्वकर्मा विश्वकर्मा राधेश्याम विश्वकर्मा रामधनी विश्वकर्मा अरविंद विश्वकर्मा मोनू विश्वकर्मा अजीत विश्वकर्मा जितेंद्र विश्वकर्मा रामसेवक विश्वकर्मा रोहित विश्वकर्मा नंदलाल विश्वकर्मा सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

फोटोः रैली निकालते हुए ऑल इंडिया यूनाइडेट शिल्पकार विश्वकर्मा महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अशोक विश्वकर्मा।

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5416

Related News