दिल्ली बन रही है मानव तस्करों की सबसे बड़ी मंडी, खुलासा

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

नई दिल्ली।। दिल्ली में रेलवे स्टेशन से लड़कियों को बहला कर नौकरी दिलाने का झांसा देकर उन्हें बेचने वाले एक गैंग के दो मानव तस्करों को पुलिस ने गिरफ्तार किया गया है।

गिरफ्त में आए तस्करों की निशानदेही पर पुलिस ने दो युवतियों को छुड़ाया है। आरोपियों की पहचान अल्ताफ और रामकेश उर्फ किशन के रूप में हुई है।

पुलिस की गिरफ्त में आए दोनों मानव तस्कर लड़कियों को टारगेट करते थे। उन्हें रेलवे स्टेशनों पर तलाश कर नौकरी का झांसा देते और उन्हें बेच देते थे।

असम पुलिस से दिल्ली पुलिस को मानव तस्करी के बारे में पता चला था। एसीपी की देखरेख में टीम ने छापेमारी कर अल्ताफ और रामकेश को गिरफ्तार कर लिया।

दोनों आरोपियों से पूछताछ में पता चला कि वह रेलवे स्टेशन पर बंगाल और उसके आसपास से आने वाली लड़कियों को नौकरी का झांसा देकर अपने साथ ले जाया करते थे।

इसके बाद उनको साउथ दिल्ली के मुनिरका और वसंत विहार इलाके में सक्रिय मानव तस्कर पायल और सुनील झा को बेच दिया करते थे।

पुलिस ने बताया कि दोनों राजस्थान और हरियाणा में दो से तीन लाख रुपये में लड़कियों को बेच देते थे। आरोपियों की निशानदेही पर बिहार की किशोरी और वेस्ट बंगाल की एक युवती को सकुशल छुड़ाया गया है।

यह गिरोह लड़कियों को या तो शादी के लिए बेच देता या फिर उनको जिस्मफरोशी के धंधे में धकेल देता था।

फोटोः प्रतीकात्मक

इसे भी पढ़े

http://upkiran.org/3324

Related News