ये कैसा नियम, गरीबों पर सितम, कर्मचारी ने बिना आधार के नहीं दिया राशन

img

www.upkiran.org

यूपी किरण ब्यूरो

लखनऊ।। अंगूठे का मिलान व आधार कार्ड फीड न होने से खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत राशन पाने वाले चार हजार लोगों को जुलाई का अनाज नहीं मिला है।

यह खुलासा पीओएस मशीनों से राशन वितरण के दौरान हुआ है। अब पात्रों के दोबारा आधार नंबर फीड करवाने के निर्देश दिए गए हैं।

राशन दुकानदारों की मनमानी पर अंकुश लगाने के लिए खाद्य एवं आपूर्ति विभाग ने बॉयोमीट्रिक मशीनों (पीओएस) से राशन वितरण करने के आदेश दिए थे।

पीओएस मशीनों से ऑनलाइन प्रक्रिया शुरू होते ही राजधानी में चार हजार लाभार्थियों के आधार में गड़बड़ी और आधार नंबर फीड न होने का मामला सामने आया।

मशीन से राशन बिक्री के दौरान इसमें से किसी के अंगूठे का मिलान नहीं हो पाया। ये सभी राशन कार्ड धारक शहरी इलाकों के हैं। इनमें सबसे अधिक संख्या वजीरगंज, हजरतगंज, आलमबाग और यहियागंज इलाकों के हैं।

पिछले वर्ष राजधानी के शहरी इलाकों में पायलट प्रॉजेक्ट के तौर पर ऑनलाइन सिस्टम की शुरुआत की गई थी। मगर उस समय काफी खामियां थी। इसकी वजह से उपभोक्ताओं को मैनुअल सिस्टम के तहत राशन दिया जा रहा था।

मगर जुलाई से प्रदेश भर में पीओएस मशीनों से ही राशन वितरण के आदेश दिए गए थे। इसमें पीओएस मशीन में अंगूठे का मिलान होने के बाद ही राशन दिया जाना था।

जिला खाद्य एवं आपूर्ति अधिकारी केएल तिवारी ने बताया कि यदि किसी लाभार्थी का नाम राशन की लिस्ट में नहीं हैं तो वह नजदीकी कार्यालय में अपना नाम दर्ज करवा सकता है। जब तक राशन कार्ड से आधार नहीं जुड़ेगा तब तक राशन नहीं मिलेगा।

फोटोः प्रतीकात्मक 

इसे भी पढ़ें

http://upkiran.org/5088

Related News