इस देश में नहीं रूकेगा युद्ध, परिणाम होंगे बहुत खतरनाक, जानें तालिबान ने और क्या कहा

युद्ध के असल कारणों पर चर्चा होने तक नहीं होगा युद्धविराम

तालिबानी प्रवक्ता मोहम्मद नईम ने कहा कि तालिबान युद्ध विराम पर तब तक अमल नहीं करेगा, जब तक कि शांति वार्ता कर रहे लोग युद्ध के असल कारणों पर चर्चा नहीं करेंगे।

Taliban

तालिबानी प्रवक्ता ने दावा किया कि आतंकवादी संगठन ने शुरुआती बातचीत के बाद हिंसा के स्तर में कमी की है लेकिन सरकार अपनी आक्रामक नीति पर रोक नहीं लगा रही है। नईम ने बताया कि 20 साल का युद्ध एक घंटे में समाप्त नहीं किया जा सकता। समस्या और युद्ध के मूल कारणों पर चर्चा करके एक युद्ध विराम तय किया जाए, यही इस समस्या का तार्किक और स्थायी समाधान है।

उन्होंने कहा कि मान लीजिए आज हम एक युद्ध विराम तय कर दें और कल बातचीत के टेबल पर किसी समाधान तक नहीं पहुंच सकें तो क्या हम फिर से जंग की ओर जाएंगे? इसका क्या मतलब है? हमारा एक मकसद था कि अफगानिस्तान में घुसपैठ को रोका जाए और दूसरा था कि एक ऐसा इस्लामिक सिस्टम होगा, जो लोगों और राष्ट्र के प्रति जवाबदेह हो।

उन्होंने कहा कि बातचीत में उतार चढ़ाव संभव है फिर भी हम बातचीत के परिणाम के लिए आशावादी हैं। हम लोगों ने शांति समझौता करने का निश्चय एक दृढ़ इच्छाशक्ति के साथ किया था। इस समस्या का स्थायी समाधान चाहते हैं। यह प्रक्रिया जटिल है और इसकी अपनी जटिलता है पर हमें आशा है कि समस्या का समाधान होने वाला है।

दरअसल अंतर-अफगान बातचीत इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफ़गानिस्तान और तालिबान के शिष्टमंडल के बीच दोहा में हो रही है। इसके उद्घाटन समारोह के 5 दिन के बाद भी दोनों दल औपचारिक बातचीत की प्रक्रिया को तय नहीं कर पाए हैं।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *