चीन से विवाद के बीच भारत के समर्थन में आया ये शक्तिशाली देश, कहा- मिटा देंगे हर॰॰॰

जापान सरकार ने तोक्यो में एक मीटिंग के उपरान्त जारी भाषण में ये सूचना दी।

नई दिल्ली॥ चालबाज ड्रैगन की बढ़ती गतिविधियों के बीच हिंदुस्तान, जापान, ऑस्ट्रेलिया तथा अमेरिका ने मंगलवार को रणनीतिक रूप से अहम इलाकों को मुक्त एवं खुला बनाए रखने के लिए समन्वय बढ़ाने पर सहमति जताई।

shi jinping china

जापानी पीएम योशिहिदे सुगा, विदेश मंत्री एस जयशंकर, यूएसए के विदेश मंत्री माइक पोम्पिओ तथा ऑस्ट्रेलियाई विदेश मंत्री मारिस पैने ने मुक्त, खुली तथा नियमों पर आधारित अंतरराष्ट्रीय व्यवस्था को मजबूत बनाने की प्रतिबद्धता जतायी। जापान सरकार ने तोक्यो में एक मीटिंग के उपरान्त जारी भाषण में ये सूचना दी। जापानी विदेश मंत्री तोशीमित्सु मोटेगी की मेजबानी में हुयी इस मीटिंग में चारों मुल्कों के विदेश मंत्री शामिल हुए। ये मीटिंग हिंद-प्रशांत, साउथ चीन सागर तथा पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर चीन के आक्रामक सैन्य आचरण की पृष्ठभूमि में हुयी।

जापानी पीएम ने द्वितीय क्वाड मंत्रिस्तरीय मीटिंग को सम्बोधित करते हुए कहा कि मुक्त और खुले हिंद-प्रशांत को ‘अंतरराष्ट्रीय समुदाय से इस क्षेत्र की शांति और समृद्धि के रूप में व्यापक मान्यता प्राप्त है। उन्होंने कहा कि उनकी सरकार की मूल नीति ‘इस दिशा में अपने सदस्यों को बढ़ाना जारी रखना है। दूसरे शब्दों में- जापान का कहना है कि दुश्मन देश द्वारा किए जा रहे हर जुल्म को हम मिटां देंगे।

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक हिंद-प्रशांत क्षेत्र के चार प्रमुख लोकतंत्रों ने क्षेत्र की शांति और स्थिरता सुनिश्चित करने के लिए समन्वय करने का संकल्प लिया। क्वाड चार मुल्कों का संगठन है जिसमें अमेरिका और हिंदुस्तान के अलावा आस्ट्रेलिया व जापान भी शामिल हैं।

 

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *