अन्नदाता की परेशानी बने जंगली जानवर

महाराजगंज जिला वन्य प्रभाग होने के वजह से जंगल से समीप दर्जनों ग्रामीण क्षेत्र है। जहाँ पर किसानों को आये दिन परेशानी का सामना करना पड़ता है।

खेतो में बोई गई फसलों को करते है नुकसान

अमित श्रीवास्तव

महराजगंज। महाराजगंज जिला वन्य प्रभाग होने के वजह से जंगल से समीप दर्जनों ग्रामीण क्षेत्र है। जहाँ पर किसानों को आये दिन परेशानी का सामना करना पड़ता है। किसान लगातार दिन रात कड़ी मेहनत से खेतों में इस उम्मीद से फसलें उगाते है की उन्हे अच्छा फल मिलेगा। लेकिन उनकी मेहनत पर जंगली जानवर पानी फेर देते है।

 

                                                                       खेतों का घेराव करते किसान

                                                                            नूर साहिबा खातून

नूर साहिब खातून बोलीं…

पनियरा के बभनौली क्षेत्र की नूर साहिब खातून का कहना है की वह अपने खेतो को जंगली जानवरो से बचाने के लिए दिन रात रखवाली करती है। अगर कही रात में नींद लग जाती है तो उतने देर में जंगली जानवर जैसे सुअर, नीलगाय,बारहसिंघा व अन्य जानवर घेराबंदी को तोड़कर फसलों को बर्बाद कर देते है। उन्होंने कहा की पैसे के अभाव में नुकीले तारो से घेराबंधी नही कर पाए। इस पर भी अधिकारियों का ध्यान नहीं जाता है।

Amarnath Radish Cultivation

                                                                    अमरनाथ मूली की खेती

किसान अमरनाथ ने सुनाई अपनी पीड़ा

वन टांगिया ग्राम दौलतपुर के किसान अमरनाथ ने बताया कि मूली की खेती किए थे। चारों तरफ से लकड़ी से घेराव भी किया था । लेकिन रात के अंधेरे में नीलगाय जानवर खेतो में घुसकर मूली की हरी पत्तियां खा गया । जिससे बिना पत्तों के मूली कौन खरीदेगा?

ऐसे में हजारों की संख्या में किसान परेशान है। न तो जिम्मेदार वन विभाग को परवाह है, न जिला प्रशासन के जिम्मेदारों को।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *