किराया ज्यादा होने से इन ट्रेनों में सफर नहीं कर रहें यात्री!

किराया ज्यादा होने से शताब्दी और हमसफर ट्रेनों में सफर से परहेज

ट्रेनों का किराया ज्यादा होने से शताब्दी और हमसफर ट्रेनों में लोग यात्रा करने से परहेज कर रहे हैं, जबकि दीपावली के अवसर पर इन्हीं ट्रेनों में नोरुम की स्थिति देखी जाती थी। इसका कारण कोरोना संक्रमण भी बताया जा रहा है।

आलम यह है कि सामान्य ट्रेनों में जहां सीट वेटिंग में है तो स्पेशल ट्रेनें खाली चल रही हैं। शताब्दी और हमसफर ट्रेनों में भी सीटें नहीं भर पा रही हैं। हालांकि, रेलवे को उमीद है कि दीपावली के त्यौहार पर ट्रेनों में बुकिंग फुल हो जाएगी।

दरअसल, रेलवे ने कोरोना संक्रमण के बाद कई ट्रेनों को कोविड स्पेशल के नाम से चलाना शुरू किया है। इसके बाद हाल ही में नवरात्र और दीपावली को लेकर पूजा और त्योहार स्पेशल को ट्रैक पर लाया गया।

भोपाल शताब्दी और हमसफर ट्रेनों को चलाया गया। रेलवे को उम्मीद थी कि त्यौहार ट्रेनों में अधिक भीड़ रहेगी। लेकिन मौजूद समय में कोविड स्पेशल ट्रेनों में लंबी वेटिंग है, लेकिन पूजा स्पेशल ट्रेनें खाली चल रही हैं।

बताया जाता है कि पूजा स्पेशल ट्रेनों का किराया कोविड स्पेशल ट्रेनों से काफी अधिक है। इसके चलते यात्री इन ट्रेनों में रिर्जवेशन कराने से बच रहे हैं। वहीं भोपाल शताब्दी और हमसफर एसप्रेस भी खाली चल रही हैं। शताब्दी एसप्रेस में तो 200 सीटें तक खाली होती हैं।

अभी स्पेशल ट्रेनों के नाम पर भोपाल शताब्दी, हमसफर, झांसी-बांद्रा स्पेशल, ग्वालियर-बरौनी, ओखा-गोरखपुर, एर्नाकुलम-बरौनी, मुंबई-गोरखपुर, पुणे-गोरखपुर, छपरा स्पेशल, इंदौर-राजेंद्र नगर साप्ताहिक, विशाखा पट्नम-हजरत निजामुद्दीन त्योहार स्पेशल, छत्तीसगढ़ त्यौहार स्पेशल, उप्र सम्पर्क क्रांति, छत्तीसगढ़ संपर्क क्रांति ट्रेन ग्वालियर से होकर चल रही हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *