Rape का आरोप पत्नी ने ही लगाया, गिरफ्तारी के डर से अदालत की शरण में पहुंचे पति को कोर्ट ने सुनाया ये आदेश

राजस्थान हाईकोर्ट ने पत्नी द्वारा ब्यूटी पार्लर संचालक पति पर Rape के आरोप लगाने के एक प्रकरण पर आज पति की गिरफ्तारी पर रोक के आदेश पारित किए है।

जोधपुर के एक ब्यूटी पार्लर संचालक की दोस्ती वहां काम करने वाली एक युवती से हो गई। दोनों ने कोविड के समय ही आर्य समाज रीति रिवाज से विवाह भी कर लिया। पर कुछ दिन बाद पत्नी अपने पिता के घर चली गई और थाने में अपने ही पति पर Rape (बलात्कार) का मुकदमा दर्ज करा दिया। पति ने अपने बचाव में हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाया। फिलहाल हाईकोर्ट ने आरोपी पति की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी है। राजस्थान उच्च न्यायालय जोधपुर मे न्यायाधिपति पुष्पेंद्र सिंह भाटी ने मामले की सुनवाई की। यह मामला सुर्खियों में है।
woman crime

 

आपसी रजामंदी से की शादी फिर Rape कैसे

जोधपुर निवासी आरोपी पति ने उच्च न्यायालय जोधपुर के समक्ष गुहार लगाई। उसने कहा कि कि वह ब्यूटी पार्लर का संचालक है। उसका परिचय ब्यूटी पार्लर का कार्य करने वाली एक लडक़ी से था। उसने व लडक़ी ने आपसी रजामंदी से 14 दिसम्बर 2020 को आर्य समाज जोधपुर में विवाह किया। जिसके बाद सामाजिक रीति रिवाज से और कॉविड-19 गाइडलाइन का पालन करते हुए गृह प्रवेश करवाया। विवाह के 15 दिन बाद लडक़ी अपने पिता के साथ पीहर चली गई और 1 जनवरी 2021 को चौपासनी हाउसिंग बोर्ड जोधपुर थाने में जाकर गलत कार्य (Rape) होने की एफआईआर दर्ज करवाई। जो धारा 376 आईपीसी के तहत दर्ज की गइ। पुलिस ने जांच शुरू कर लडक़ी के बयान न्यायालय में दर्ज करवा दिए।

तब याची ने उच्च न्यायालय जोधपुर की शरण ली। अपनी याचिका में उसने निवेदन किया है कि याची द्वारा लडक़ी से हिंदू धर्म के अनुसार विधिवत आर्य समाज में विवाह किया गया। दोनों विशेष विवाह अधिनियम के तहत जिला कलेक्टर जोधपुर के समक्ष भी उपस्थित हुए है। दोनों ने आपसी रजामंदी से विवाह किया है। विवाह के कुछ दिन बाद ही लडक़ी ने अपने पिता के साथ जाकर झूठी एफआईआर (Rape) दर्ज करवा दी। याची की पत्नी ने अपने पिता व परिवार के सदस्यों के दबाव में आकर झूठी एफआईआर दर्ज करवाई है। जबकि दोनों विवाह से पूर्व परिचित है। याचिकाकर्ता के अधिवक्ता का पक्ष सुनकर राजस्थान उच्च न्यायालय द्वारा याचिका ग्रहण कर, नोटिस जारी कर, आठ सप्ताह पश्चात सूचीबद्ध करने के आदेश दिए है।

11 आईएएस अधिकारियों को नई जिम्मेदारी , वित्त विभाग के सचिव बनाए गए अलरमेलमंगई डी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *