युद्ध की तैयारी में चीन! हिंदुस्तानी सरहद के करीब शुरू किया ये खतरनाक काम

सरहदी मसले सुलझाने का दावा करने वाला चीन अब हिंदुस्तानी सरहद के निकट रेल चलाने की तैयारी में है।

हिंदुस्तान के साथ बैठक से सरहदी मसले सुलझाने का दावा करने वाला चीन अब हिंदुस्तानी सरहद के निकट रेल चलाने की तैयारी में है। आधिकारिक मीडिया के अनुसार चीन दक्षिण पश्चिमी सिचुआन प्रांत के यान और तिब्बत के लिंझी के बीच रणनीतिक महत्व के सिचुआन-तिब्बत रेल मार्ग का निर्माण शुरू करने वाला है।

CHINA

लिंझी को नयींगशी के नाम से भी जाना जाता है और अरुणाचल प्रदेश सरहद के निकट मौदूद स्थित है। लिंझी में एक हवाईअड्डा भी है, जो हिमालयी क्षेत्र में चीन द्वारा बनाए गए 5 हवाईअड्डों में शामिल है। दूसरे शब्दों मे कहे तो चीन युद्ध की तैयारी कर रहा है।

चीनी रेलवे ने 2 टनल तथा एक पुल के निर्माण कार्य और शिचुआन-तिब्बत रेलवे के यान-लिंझी खंड के लिए बिजली आपूर्ति के लिए शनिवार को निविदा के परिणाम घोषित किए। इससे संदेश मिलता है कि परियोजना का निर्माण कार्य शुरू होने वाला है। सरकारी चाइना न्यूज की सूचना के अनुसार चिंघाई-तिब्बत रेलवे के बाद, सिचुआन-तिब्बत रेलवे तिब्बत में ऐसी दूसरी परियोजना है। ये चिंघाई-तिब्बत पठार के दक्षिण पूर्व से गुजरेगा, जो विश्व के भूगर्भीय रूप से सर्वाधिक सक्रिय क्षेत्रों में शामिल है।

सिचुआन-तिब्बत रेलवे सिचुआन प्रांत की राजधानी चेंगदु से शुरू होता है। यह यान से गुजरता हुआ और तिब्बत में प्रवेश करता है और चेंगदु से ल्हासा के बीच की यात्रा में लगने वाले 48 घंटे के वक्त को घटा कर 13 घंटे करता है। बता दें कि अपनी विस्तारवादी नीतियों के चलते चीन विश्व पर कब्जा करने की नीयत रखता है। ऐसे में हिंदुस्तानीय सीमा के निकट उसका रेल चलाने के प्रोजेक्ट को भी शक की नजरों से देखा जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *