योगी सरकार का बड़ा फैसला, इस एक्ट के तहत दर्ज मुकदमे होंगे वापस, गृह विभाग को दिया निर्देश

सीएम योगी ने कहा कि व्यापक जनहित को ध्यान में रखते हुए कोविड महामारी एक्ट के उल्लंघन से जुड़े दर्ज मुकदमों को समाप्त किया जाना चाहिए।

उत्तर प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ आगामी विधानसभा चुनाव से पहले कई बड़े फैसले ले रहे हैं, जिसका सीधा असर चुनाव में देखने को मिल सकता है. आपको बता दें कि इसी कड़ी में योगी आदित्यनाथ ने कोरोना काल में महामारी एक्ट में दर्ज मुकदमे वापस लेने का फैसला किया है। सीएम योगी ने कहा कि व्यापक जनहित को ध्यान में रखते हुए कोविड महामारी एक्ट के उल्लंघन से जुड़े दर्ज मुकदमों को समाप्त किया जाना चाहिए।

Yogi Adityanath - Uttar Pradesh Assembly Election 2022

सीएम योगी ने कहा की गृह विभाग द्वारा इस संबंध में आवश्यक कार्यवाही की जाए। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि थाना और सर्किल सहित फील्ड में तैनात अवैध गतिविधियों में संलिप्त, खराब रिकॉर्ड वाले दागी पुलिसकर्मियों की सूची यथाशीघ्र तैयार कर प्रस्तुत की जाए। ऐसे लोग उत्तर प्रदेश पुलिस की छवि खराब करने वाले हैं। सभी के विरुद्ध कठोरतम कार्रवाई की जाएगी।

मुख्यमंत्री योगी ने दो टूक शब्दों में गृह विभाग के अपर मुख्स सचिव और डीजीपी से कहा है कि भ्रष्टाचार में संलिप्त एक भी पुलिसकर्मी यूपी पुलिस का हिस्सा नहीं रहना चाहिए। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि कल्याणकारी सरकार और सुशासन की धुरी थाना और तहसील हैं। नए नायब तहसीलदारों के आने से जनसुनवाई को गति मिलेगी। राजस्व वादों का निस्तारण हो जाए तो राज्य में आधे से अधिक विवाद समाप्त हो जाएं।

सुशासन के साथ ही विकास में भी नायब तहसीलदारों की अहम भूमिका होती है। नवनियुक्त नायब तहसीलदारों से कहा कि हमने पारदर्शी भर्ती की है सरकार की भी आपसे अपेक्षा है कि पारदर्शी तरीके से काम करें। पहले दिन से ही काम में ईमानदारी नजर आए। संवेदनशील होकर काम करें, शिकायतें नहीं आनी चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *