बिहार में कांग्रेस को मिल गया ये चुनावी मुद्दा, शुरू कर दिया ये अभियान

पटना, 05 सितम्बर । बेरोजगारी के मुद्दे पर छिड़ी राष्ट्रव्यापी बहस के बीच कांग्रेस बिहार में इसका चुनावी फायदा उठाने की कोशिश कर रही है। कांग्रेस ने बिहार में बेरोजगारी को एक बड़ा चुनावी मुद्दा बनाने का फैसला किया है। इसके लिए यूथ कांग्रेस के साथ जुड़कर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता लगातार रणनीति पर काम कर रहे हैं।

congress

कांग्रेस की तरफ से शनिवार को डिजिटल रैली के जरिए बेरोजगारों को जोड़ने के अभियान की शुरुआत की गई। कांग्रेस अब बेरोजगार फोन के जरिए और मिस्ड कॉल सेवा के साथ बेरोजगारों को अपने साथ जोड़ने का अभियान चला रही है। पार्टी के बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल, पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. मदन मोहन झा, यूथ कांग्रेस के प्रभारी कृष्णा अलावरू और यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष श्रीनिवास की मौजूदगी में इस अभियान की शुरुआत की गई। बिहार यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष गुंजन पटेल भी इस मौके पर मौजूद थे।

बता दें कि इस अभियान के तहत सभी शिक्षित एवं अशिक्षित बेरोजगार युवाओं को जोड़ने का प्रयास कांग्रेस के द्वारा किया जा रहा है। इस रैली का प्रसारण विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर भी किया जा रहा है ताकि ज्यादा से ज्यादा लोग इससे जुड़ सकें। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि ‘रोजगार दो’ डिजिटल रैली कोई चुनावी रैली नहीं, बल्कि बिहारी युवाओं का नीतीश और मोदी सरकार के खिलाफ ऐलान-ए-जंग है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *