उत्तराखंड में कोरोना टीकाकरण अभियान पड़ा धीमा, वजह है चौंकाने वाली

31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए विभाग को अब एक दिन में 66,266 टीके लगाने होंगे

अभी हाल ही में स्वास्थ्य विभाग द्वारा दिखाई गई ढिलाई ने राज्य सरकार की 31 दिसंबर से पहले पूरी वयस्क आबादी का टीकाकरण करने की योजना पर पानी फेर दिया है। बीते दस दिनों (3 अक्टूबर से 12 अक्टूबर) में केवल 2,43,150 लाख टीकों की खुराक दी गई जिससे टीकाकरण के रोजाना के लक्ष्य में वृद्धि हुई है। 31 दिसंबर तक शत-प्रतिशत टीकाकरण के लक्ष्य को हासिल करने के लिए विभाग को अब एक दिन में 66,266 टीके लगाने होंगे।

Covid- Vaccination

सोशल डेवलपमेंट फॉर कम्युनिटीज (SDC) फाउंडेशन के मुखिया अनूप नौटियाल ने वैक्सीन मीटर के 10वें संस्करण का विमोचन करते हुए कहा कि पिछले 10 दिनों में टीकाकरण की गति धीमी हो गई है। उन्होंने बताया कि वैक्सीन की अधिकतम खुराक 4 अगस्त से 13 अगस्त के दौरान दी गई, जब 9,44,518 खुराकें दी गईं।

नौटियाल ने कहा कि हाल के दिनों में वैक्सीनेशन की गति धीमी होने का मतलब है कि विभाग को अब लक्ष्य को पूरा करने के लिए वर्ष के शेष 80 दिनों में रोजाना 66,266 खुराक देनी होगी। उन्होंने कहा कि इस साल 13 अक्टूबर तक कुल 1,08,00,085 खुराक (74,20,994 लोगों- पहली खुराक, 33,79,091 लोगों को- दोनों खुराक) दी जा चुकी हैं।

प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक प्रदेश में कुल 80,50,684 लोगों को टीकाकरण की आवश्यकता है, जिसका अर्थ है कि विभाग के पास 1,61,01,368 वैक्सीन शॉट्स का लक्ष्य है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *