बहू ने ससुर से रचाई शादी, पति से तलाक लेने की वजह जानकर दंग रह जाएंगे आप

बेटे की शिकायत के बाद सारा घटनाक्रम बदायूं एसपी के सामने आ गया, जिसके बाद पुलिस इस मामले में जांच कर रही है

उत्तर प्रदेश॥ मामला यूपी के बदायूं जिले का है। यहां एक शख्स ने पत्नी की मौत के बाद अपनी बहू से शादी कर ली। अपने दोनों पुत्रों को छोड़ वह पुत्रियों के साथ दूसरे नगर में रहा। रुपयों की तंगी जब बेटों के सामने गहराई तो मामले ने तूल पकड़ लिया। बड़े बेटे की शिकायत के बाद सारा घटनाक्रम बदायूं एसपी के सामने आ गया, जिसके बाद पुलिस इस मामले में जांच कर रही है।

बदायूं जिले के ग्राम बिसौली गांव निवासी 45 वर्षीय देवानंद की पत्नी की 2015 में मौत हो गई थी। उस समय देवानंद की उम्र करीब 39 साल थी। देवानंद ने अपने परिवार को सुझाव दिया कि वह अपने घर में शादी कर लें, लेकिन देवानंद ने उस समय मेरे 15 वर्षीय बेटे सुमित से शादी करने का फैसला किया और 2016 में सुमित से शादी कर ली। शादी के छह महीने बाद, सुमित और उसकी पत्नी के बीच रहने लगे, जिसके कारण जिसमें दोनों दूरियां आ गईं। इस बीच सुमित की पत्नी का अपने ससुर से नजदीकियां बढ़ गई हैं।

2017 में पिता देवानंद ने एक ऐसा कदम उठाया, जिसने सुमित की पूरी दुनिया को उलट कर रख दिया है। देवानंद ने सुमित की पत्नी से शादी की और दोनों संभल जिले में जाने लगे। दोनों को एक बेटा हुआ, जिसकी उम्र महज एक साल है। हालांकि, देवानंद अपने बेटों की जिम्मेदारी ले रहे थे।

सुमित शराब और जुए का आदी था और रुपये की इस जरूरत को उसके पिता ने पूरा किया, लेकिन कुछ दिनों बाद देवानंद ने अपने बेटे को भुगतान करना बंद कर दिया। इसके बाद सुमित ने आरटीआई की सलाह पर देवानंद से सलाह मांगी। इसके अलावा बिसौली कोतवाली में एक प्रार्थना पत्र भी लगाया, जिसमें उसे अपनी पत्नी को कहीं छोड़कर जाना पड़ा और उसे ढूंढ़ने की गुहार लगाई।

पुलिस ने इस मामले की जांच करते हुए देवानंद और उनके बेटे सुमित को थाने बुलाया। सुमित थाने में उसकी परवरिश और खर्चा पूछने लगा। इस दौरान बेटे को लेकर पिता का खूब विवाद हुआ। इसके बाद पंचायत बनी, जिसमें सुमित की पत्नी ने उसे ससुर के साथ रहने को कहा। उसने बताया कि ससुर उसका पति है। उन्होंने ससुर से कोर्ट मैरिज की है।

वहीं वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बदायूं संकल्प शर्मा ने बताया कि पुलिस को एक आरटीआई का प्रार्थना पत्र मिला था, जिसमें सुमित नाम के शख्स ने पूछा था कि एक पुराने प्रार्थना पत्र पर क्या कार्रवाई की गई। सुमित ने पुलिस से उसकी पत्नी को खोजने का अनुरोध किया था।

एसपी ने बताया कि सुमित, उसके पिता देवानंद और महिला को कोतवाली कहा जाता था। पुलिस ने बताया कि सुमित शराब का आदी है। जिस वजह से उसकी पत्नी उससे दूर रहने लगी। सुमित भी पत्नी से अलग रहता था। सुमित को पिता की पत्नी से शादी की बात भी पता थी, लेकिन वह रुपये लेना चाहता था।

शादी के वक्त सुमित की कोई संतान नहीं थी, सुमित के बच्चे की शादी हो चुकी थी। इसलिए सुमित की शादी के कोई दस्तावेज नहीं मिले। महिला ने इस बात से इनकार नहीं किया कि उसकी सुमित से शादी नहीं हुई है। सुमित को केवल रुपये चाहिए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *