भारत से तनातनी के बीच अलर्ट पर ड्रैगन की सेना? सैनिकों से बोले जिनपिंग, युद्ध की करो तैयारी

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी राष्ट्रपति ने पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी से कहा, 'अपना पूरा दिमाग और ऊर्जा युद्ध की तैयारी पर लगाओ। 

नयी दिल्ली। पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर सीमा विवाद को लेकर भारत और चीन के बीच तनातनी जारी है। इस बीच चीनी के राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने गुआंगडोंग के दक्षिणी प्रांत में एक सैन्य अड्डे का दौरा किया। इस दौरान जिनपिंग ने अपनी सेना से युद्ध के लिए तैयार रहने को कहा। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक, चीनी राष्ट्रपति ने पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी से कहा, ‘अपना पूरा दिमाग और ऊर्जा युद्ध की तैयारी पर लगाओ।

Chinese President Xi Jinping

सीएनएन की रिपोर्ट के मुताबिक,  शिन्हुआ के हवाले से कहा गया है कि चाओझोउ शहर में पीपुल्स लिबरेशन आर्मी मरीन कॉर्प्स के निरीक्षण के दौरान जिनपिंग ने सैनिकों से हाई अलर्ट मोड में रहने को कहा है। साथ ही उन्होंने चीनी सैनिकों को पूरी तरह से वफादार, बिल्कुल शुद्ध और भरोसेमंद रहने को भी कहा है।

चीनी राष्ट्रपति का यह सैन्य विजिट ऐसे वक्त में हुआ है, जब ताइवान और कोरोना की वजह से चीन और अमेरिका के बीच तनाव चरम पर है। साथ ही सीमा विवाद को लेकर भारत के साथ भी रिश्ते काफी तल्ख हैं। चीन और भारत ने सीमा पर फोर्स की तैनाती कर दी है। बता दें कि भारत और चीन के बीच कोर कमांडर स्तर की सात दौर की सैन्य वार्ता हो चुकी है। पिछली वार्ता सोमवार को करीब 12 घंटे चली थी।

एक भारतीय सैन्य अधिकारी ने कहा कि हालांकि चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) ने वार्ता के माध्यम से गतिरोध को हल करने की इच्छा दिखाई, लेकिन उसकी ओर से इसके लिए जमीन पर कोई स्पष्ट कदम नहीं उठाया गया है। भारत का कहना है कि पर्वतीय क्षेत्र में टकराव वाले बिंदुओं से सैनिकों की वापसी प्रक्रिया को आगे बढ़ाने की जिम्मेदारी चीन पर है। यह भी पता चला है कि चीनी प्रतिनिधिमंडल ने सोमवार की वार्ता में सैनिकों की वापसी की प्रक्रिया शुरू करने के लिए एक प्रस्ताव रखा था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *