रमजान पर दुबई सरकार ने लिया बड़ा फैसला, रोजेदारों के लिये बदला ये नियम

ऐसे में नए नियमों के अतंर्गत दोपहर के वक्त खाना परोसने के लिए अब रेस्तरां को पहले की तरह स्पेशल परमिट लेने की भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

रमजान का महीना शुरू हो गया है। रोजा (उपवास) के दौरान सुबह से लेकर शाम तक किसी भी चीज का सेवन नहीं किया जाता है। रमजान रहमतों और बरकतों का महीना है। इस दौरान कई देशों में उपवास के दौरान होटल खाने पीने की दुकाने बंद कर दी जाती हैं। जिनमें दुबई भी शामिल है, जहां रोजे के दौरान रेस्टोरेंट पर पर्दा डाल दिए जाते हैं। ऐसे में दुबई ने अब इस नियम में फेरबदल करने का ऐलान किया है।

roza iftar in dubai

जीं हां दुबई में मुसाफिरों और व्रत न रखने वालों के लिए ये एक बड़ी राहत की न्यूज है। दुबई में अब रमजान के दौरान रेस्टोरेंट पर्दे में ढके नहीं रहेंगे। मतलब की बाहर खाना खाने को तरजीह देने वालों के लिए ये बड़ी छूट है।

दरअसल दुबई में काफी वक्त से चली आ रही उस अनिवार्यता को समाप्त करने की दिशा में कदम उठाया गया है जिसमें रमजान पर रेस्टोरेंट को दिन में परदों से ढंकना जरूरी होता आया है। ऐसे में रोजा रखने वाले लोगों के लिहाज से रोजे के दौरान रेस्टोरेंट्स में पर्दे लगा दिए जाते थे। इस वक्त रोजा रख रहे लोगों की नजर से खाने वाली चीजों को दूर रखने की कवायद के तहत दुबई में ये सब किया जा रहा था।

ऐसे में नए नियमों के अतंर्गत दोपहर के वक्त खाना परोसने के लिए अब रेस्तरां को पहले की तरह स्पेशल परमिट लेने की भी आवश्यकता नहीं पड़ेगी। जबकि खाड़ी के अरब देशों में रोजे के दौरान सार्वजनिक तौर पर खाने पीने पर जुर्माने लगाए जाते हैं और ऐसा करने वाला आदमी कानूनी पचड़ों में भी फंस सकता है। परन्तु पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए दुबई नियमों में बदलाव कर रहा है। ये पर्यटकों के लिए बेहद राहत भरा कदम साबित हो रहा है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *