रॉकेट लॉन्चिंग के दौरान चीनी वैज्ञानिकों की बड़ी लापरवाही आई सामने, जानें पूरी घटना

सोमवार को एक रॉकेट के लॉन्चिंग के दौरान चीनी वैज्ञानिकों की लापरवाही से एक बड़ी दुर्घटना होते-होते बची। गौरतलब है कि लॉन्चिंग के दौरान ही रॉकेट  का बूस्टर अचानक ही आसमान से एक स्कूल के पास आकर गिर गया।

चीन। सोमवार को एक रॉकेट के लॉन्चिंग के दौरान चीनी वैज्ञानिकों की लापरवाही से एक बड़ी दुर्घटना होते-होते बची। गौरतलब है कि लॉन्चिंग के दौरान ही रॉकेट  का बूस्टर अचानक ही आसमान से एक स्कूल के पास आकर गिर गया। गनीमत रही कि इस दौरान किसी जानमाल का नुकसान नहीं हुआ। ये बूस्टर्स अत्यंत ज्वलनशील जेट फ्यूल से भरे होते हैं, जो किसी घातक मिसाइल जितनी चोट पहुंचा सकते हैं।

आमतौर पर जब कोई सैटेलाइट अंतरिक्ष में भेजा जाता है तो उसके रॉकेट को शक्ति देने वाले बूस्टर्स को लेकर खासी सावधानी बरती जाती है। ये बूस्टर्स रॉकेट को धरती के गुरुत्वाकर्षण बल से बाहर लेकर जाते हैं। जब इन रॉकेट्स का काम या इनका फ्यूल खत्म हो जाता है तो इन्हें रॉकेट से अलग कर दिया जाता है। इस दौरान वैज्ञानिक इस बात का ध्यान रखते हैं कि रॉकेट से अलग होने के बाद धरती पर गिरते समय ये बूस्टर्स किसी रिहायशी इलाके में न गिरें। लेकिन, इस बार चीन के वैज्ञानिकों ने इसका ध्यान नहीं रखा।

इस घटना का वीडियो अब तेजी से इंटरनेट पर वायरल हो रहा है। जिसमें आसमान से रॉकेट का बूस्टर गिरते हुए दिखाया गया है।
आपको बता दें कि चीन के शक्तिशाली गॉफन सैटेलाइट को उत्तरी चीन के ताइयुआन सैटेलाइट लॉन्च सेंटर से लॉन्ग मार्च 4 बी रॉकेट के जरिए सोमवार दोपहर 1:57 बजे प्रक्षेपित किया गया था। यह एक अर्थ ऑब्जरवेशन सैटेलाइट है जो सैन्य और असैन्य दोनों तरह की गतिविधियों में प्रयोग किया जाता है। इस सैटेलाइट में कई हाई रिज्योलूशन के कैमरे लगे हैं। जो धरती की तीन फीट की ऊंचाई पर स्थित किसी ऑब्जेक्ट की हाई क्वालिटी तस्वीरें ले सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *