पुतिन के नाम शर्मनाक रिकॉर्ड, इस मामले में रूस विश्व का सबसे खराब देश

यूक्रेन पर रूसी प्रेसिडेंट पुतिन की विस्तारवादी नीति से न केवल रूस को लाभ हो रहा है, बल्कि इससे रूस को भी गंभीर नुकसान हो रहा है। इस जंग के पहले दिन से ही विश्व के कई मुल्क तथा बड़ी कंपनियां रूस पर कई तरह के बैन लगा रही हैं। इसे देखते हुए हालात ऐसे हो गए हैं कि अब रूस और पुतिन के नाम एक शर्मनाक रिकॉर्ड जुड़ गया है। रूस सबसे अधिक प्रतिबंधों वाला मुल्क बन गया है। अब रूस ने इस प्रकरण में ईरान और नॉर्थ कोरिया को पीछे छोड़ दिया है।

Putin

युद्धग्रस्त यूक्रेन व रूस के मध्य जारी जंग के दौरान रूस पर नए बैन लगने लगे, जो अब तक जारी हैं. ब्लूमबर्ग ने अपनी एक रिपोर्ट में कैस्टेलम सर्विस का हवाला देते हुए इसे विस्तृत तरीके से समझाया है। इसमें उल्लेख है कि 22 फरवरी से रूस पर 2778 नए प्रतिबंध लगाए गए हैं। नए प्रतिबंधों के ऐलान के बाद, लगाए गए प्रतिबंधों की टोटल संख्या बढ़कर 5530 से अधिक हो गई है। रूस ने ईरान को भी पीछे छोड़ दिया है, जिसके विरूद्ध बीते दस वर्षों में 3,616 बैन लगाए गए हैं।

कई मुल्कों से प्रतिबंध झेल रहा रूस

यह भी बताया गया कि 22 फरवरी से अब तक रूस के विरूद्ध लगाए गए अधिकांश प्रतिबंध (2427) वहां के कुछ प्रतिष्ठित लोगों के विरूद्ध हैं। जबकि 343 प्रतिबंध संस्थाओं के विरूद्ध लगाए गए हैं, जो आमतौर पर कंपनियां या सरकारी एजेंसियां ​​हैं। रूस के विरूद्ध बैन लगाने वालों में स्विट्जरलैंड (568), यूरोपीय संघ (518), फ्रांस (512) और यूएसए (243) शामिल हैं।