भीषण आतंकवादी हमला : इतने लोगों की मौत, ऐसे कत्लेआम कर रहे थे आतंकी, मोदी बोले…

प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, "वियना में नृशंस आतंकी हमलों के समाचार से गहरा सदमा लगा और दुःख हुआ। भारत इस संकट के समय में ऑस्ट्रिया के साथ खड़ा है। मेरी संवेदना पीड़ितों और उनके परिवारों के साथ हैं। 

नई दिल्ली। ऑस्ट्रिया की राजधानी वियना में सोमवार रात घातक हथियारों से लैस आतंकवादियों ने यहूदी धर्मस्थल सहित 6 स्थानों पर अंधाधुंध फायरिंग की। इसमें कम से कम 7 लोगों की मौत हो गई है और कई लोग घायल हो गए।

modi and atanki

पीएम मोदी ने जताया दुख

प्रधानमंत्री मोदी ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए ट्वीट किया, “वियना में नृशंस आतंकी हमलों के समाचार से गहरा सदमा लगा और दुःख हुआ। भारत इस संकट के समय में ऑस्ट्रिया के साथ खड़ा है। मेरी संवेदना पीड़ितों और उनके परिवारों के साथ हैं।

ऐसे कत्लेआम कर रहा था आतंकी

ऑस्ट्रिया के चांसलर सेबस्टियन कुर्ज ने कहा, ‘मुझे बताते हुए खुशी हो रही है कि हमारी पुलिस एक हमलावर को ढेर करने में सफल रही।’

कुर्ज ने कहा, ‘हम ऐसा कभी नहीं होने देंगे कि आतंकवादी हमें डराएं। हम हर तरीके से इन आतंकी हमलों से लड़ेंगे।’ पुलिस ने बताया कि शहर की एक सड़क पर रात आठ बजे के बाद कई गोलियां चलाई गईं। गोलीबारी छह स्थानों पर हुई है। ऑस्ट्रिया के शीर्ष सुरक्षा अधिकारी ने कहा कि अधिकारियों का मानना है कि कई बंदूकधारी इसमें शामिल हैं और पुलिस का अभियान अब तक जारी है।

गृह मंत्री कार्ल नेहम्मर ने सरकारी प्रसारक ओआरएफ को बताया, ‘यह एक आतंकी हमला लगता है।’ उन्होंने कहा कि हमलावर राइफलों से लैस थे। सेना से शहर के अहम स्थलों की सुरक्षा करने को कहा गया है ताकि पुलिस हमलावरों का पीछा कर सके। वियना के मेयर माइकल लुडविंग ने कहा कि 15 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जिनमें से सात गंभीर रूप से जख्मी हैं। स्‍थानीय मीडिया का कहना है कि इन हमलों में अब तक 7 लोगों की मौत हो गई है।

वियना में यहूदी समुदाय के प्रमुख ऑस्कर डॉयच ने बताया कि गोलीबारी की घटना शहर के प्रमुख यहूदी उपासनागृह के बाहर वाली सड़क पर हुई है, लेकिन यह स्पष्ट नहीं है कि हमला इबादतगाह को निशाना बनाकर ही किया गया था या नहीं। उन्होंने ट्वीट किया कि उस वक्त उपासनागृह बंद था। प्रत्यक्षदर्शी रब्बी स्क्लोमो होफमिस्टर ने बताया कि उन्होंने देखा कि सड़क पर बार के बाहर बैठे एक व्यक्ति को गोली मार दी गई।

उन्होंने कहा कि हमारी इमारत के बाहर कम से कम 100 गोलियां चलाई गई हैं। उन्होंने यह भी बताया कि सभी बारों ने बाहर मेजें लगा रखी थीं। यह लॉकडाउन लागू होने से ठीक पहले की शाम थी। होफमिस्टर ने कहा कि आधी रात से ऑस्ट्रिया में अगले एक महीने के लिए सभी बार और रेस्तरां बंद हो जाएंगे और इसलिए बहुत सारे लोग बाहर घूमना-फिरना चाहते थे।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *