कंगना रनौत जितना शिवसेना से लड़ेगी उतना ही भाजपा को फायदा होगा

अभिनेत्री और शिवसेना मचे घमासान में 'भाजपा को सीधे तौर पर फायदा हो रहा है'

दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत को लेकर शुरू हुई अभिनेत्री कंगना रनौत की लड़ाई पूरी तरह सियासी रूप ले चुकी है। ‘कंगना और शिवसेना के बीच जारी आर-पार की जंग ने उग्र रूप ले लिया है’। सबसे खास बात यह है कि इन दोनों के बीच हर दिन बढ़ती दुश्मनी को कोई भी तीसरा पक्ष शांत कराने की कोशिश नहीं कर रहा है।

kangna

अभिनेत्री और शिवसेना मचे घमासान में ‘भाजपा को सीधे तौर पर फायदा हो रहा है’। इन दोनों की लड़ाई अब खुलकर भाजपा बनाम शिवसेना हो गई है। कंगना पर एक तरफ जहां शिवसेना लगातार हमले बोल रही है और उन्हें बेईमान, देशद्रोही और हरामखोर तक बता चुकी है तो वहीं भारतीय जनता पार्टी अभिनेत्री के बचाव में उतर आई है। महाराष्ट्र भाजपा राज्य इकाई के कई नेताओं ने अपना समर्थन दिया है। महाराष्ट्र में कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना की गठबंधन सरकार है।

ऐसे में एक्ट्रेस कंगना रनौत राज्य सरकार पर हर दिन हमले बोल रही है।‌ ‘भाजपा काफी समय से इंतजार में थी कि महाराष्ट्र की शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस सरकार को सियासी बाजार में आईना दिखाए’ । उसी को देखते हुए भाजपा सरकार ने पिछले दिनों अभिनेत्री कंगना को ‘वाई श्रेणी’ की सुरक्षा भी प्रदान कर दी थी।

उद्धव ठाकरे की सरकार को हिलाने का काम भाजपा के नेता नहीं कर सके, वह कंगना रनौत ने कर दिखाया। उद्धव ठाकरे की सरकार ने आज सुबह बीएमसी को मुंबई स्थित कंगना के ऑफिस में कार्रवाई करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद ही बीएमसी की एक टीम जेसीबी मशीन, क्रेन और हथौड़े लेकर पहुंच गई और ऑफिस में तोड़फोड़ शुरू कर दी।

लेकिन उसी दौरान बीएमसी की कार्रवाई के खिलाफ कंगना को हाईकोर्ट में शरण ली। कोर्ट ने कंगना के ऑफिस पर तोड़फोड़ की कार्रवाई पर रोक लगा दी है। महाराष्ट्र सरकार के अपने ऑफिस पर की गई कार्रवाई के बाद अभिनेत्री कंगना रनौत भारतीय जनता पार्टी का नारा ‘जय श्रीराम’ संबोधित किया।

कंगना रनौत का बयान भाजपा बिहार विधानसभा चुनाव में इस्तेमाल करेगी

भाजपा ने अभिनेत्री कंगना और महाराष्ट्र सरकार की लड़ाई सीधे तौर पर बिहार में होने वाले चुनावों जोड़ दिया है। यहां हम आपको बता दें कि राज्य में शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस की सरकार है।

एनसीपी और कांग्रेस पार्टी बिहार में आरजेडी के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की तैयारी में है। ऐसे में कंगना की महाराष्ट्र सरकार के साथ ‘महाजंग’ का सियासी फायदा भारतीय जनता पार्टी बिहार में सीधे तौर पर देख रही है। यहां आपको बता दें कि दिवंगत फिल्म अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत का बिहार से रिश्ता है ऐसे में भाजपा फिल्म अभिनेत्री रनौत के बयानों को बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव में अपना आधार बनाएगी।

भाजपा के वरिष्ठ सुब्रमण्‍यम स्वामी अभिनेत्री कंगना के समर्थन में आ गए हैं। स्वामी ने कंगना के बयानों को सही ठहराते हुए समर्थन किया है। सुब्रमण्‍यम ने कहा कि कंगना भरोसा रखें, हम सभी उनके साथ हैं। यहां हम आपको बता दें कि मुंबई की पाक अधिकृत कश्‍मीर से तुलना और मुंबई पुलिस की आलोचना के बाद महाराष्‍ट्र सरकार और खासकर शिवसेना के नेता संजय राउत ने कंगना रनौत पर आक्रामक रवैया अपनाए हुए हैं।

कंगना के मुंबई एयरपोर्ट पहुंचने पर बना राजनीति का अखाड़ा-

अभिनेता सुशांत मामले को लेकर शुरू हुई कंगना रनौत और शिवसेना के बीच की जुबानी जंग अब कई पार्टियां शामिल हो गई हैं। रनौत के आज मुंबई एयरपोर्ट पहुंचने पर राजनीतिक अखाड़ा के रूप में नजर आया। महाराष्ट्र सरकार की मुंबई में आने को लेकर दी गई धमकी के बावजूद कंगना जब मुंबई एयरपोर्ट पहुंची तो शिवसेना और आरपीआई के साथ करणी सेना के हजारों कार्यकर्ता मौजूद थे।

जहां एक और शिवसेना के कार्यकर्ता कंगना के विरोध में काला झंडा लेकर पहुंचे हुए थे। शिवसेना के ये कार्यकर्ता ‘कंगना रनौत वापस जाओ’, ‘कंगना रनौत हाय हाय’ और ‘चले चले जाओ पाकिस्तान चले जाओ’ के नारे लगा रहे हैं। दूसरी ओर आरपीआई और करणी सेना के कार्यकर्ता अभिनेत्री के समर्थन में नारे लगा रहे थे।

मुंबई एयरपोर्ट पर शिवसेना और आरपीआई के साथ करणी सेना का जमावड़ा इतना बढ़ गया कि सुरक्षा कर्मियों को कंगना को एयरपोर्ट के पीछे रास्ते से निकालना पड़ा। एक समय तो ऐसा लगा कि शिवसेना आरपीआई कार्यकर्ताओं के बीच हिंसक झड़प भी हो सकती है। हालांकि अभी इस मामले में उद्धव ठाकरे सरकार की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। दूसरी ओर भाजपा केंद्रीय आलाकमान भी नहीं चाहता कि कंगना रनौत और शिवसेना का विवाद अभी ठंडा पड़े।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *