Maa Ganga ने संगमतट पर हनुमानजी को नहलाया, इस महामारी से मिलेगी मुक्ति !

प्रयागराज वासियों के लिए आज का दिन विशेष रूप से मंगलकारी हो गया है। आज मां गंगा (Maa Ganga) ने संगम तट स्थित बांध पर लेटे हुए हनुमान जी को स्नान कराया।

प्रयागराज। प्रयागराज वासियों के लिए आज का दिन विशेष रूप से मंगलकारी हो गया है। आज मां गंगा (Maa Ganga) ने संगम तट स्थित बांध पर लेटे हुए हनुमान जी को स्नान कराया। गंगा की पवित्र धारा से पवनसुत का अभिषेक होते ही मांगंगा हुए रामभक्त हनुमान के जयकारों से पूरा संगम खेत्र गूंज उठा। मान्यता है कि जिस वर्ष मां गंगा तीर्थराज में बांध पर लेटे हनुमान जी को गंगा नदी स्नान करा देती है, उस वर्ष देश में कोई प्राकृतिक आपदा नहीं आती है। यदि पहले से आपदा होती है तो शीघ्र ही उससे मुक्ति मिल जाती है।

HANUMAN JI- Maa Ganga

उल्लेखनीय है की भारत समेत पूरा विश्व कोरोना त्रासदी की चपेट में है। इसलिए कोरोना काल में हनुमान जी को मां गंगा (Maa Ganga) का स्नान कराना महामारी से मुक्ति का संकेत माना जा रहा है। प्रयागराज में गंगा और यमुना का जलस्तर पिछले कई दिनों से लगातार बढ़ रहा था। श्रद्धालुओं को मां गंगा द्वारा लेटे हनुमान जी के स्नान कराते हुए दृश्य की प्रतीक्षा थी। यह प्रतीक्षा आज पूरी आज गई।

सनातन मान्यता है कि हर वर्ष मां गंगा (Maa Ganga) संगम तट के पास स्थित बांध पर लेटे हनुमान जी को पवित्र स्नान कराने आती हैं। हनुमान जी का यह गंगा स्नान विशेष शुभ माना जाता है। पौराणिक कथाओं के अनुसार त्रेता युग में भगवान राम के कहने पर ही हनुमान जी संगम तट पर विश्राम करने पहुंचे थे। भगवान शंकर ने उन्हें आशीर्वाद दिया था कि गंगा जी कहीं भी रहेंगी, किन्तु हर वर्ष उन्हें स्नान कराने अवश्य आयेंगी।

एक अन्य मान्यता के अनुसार जब कोई शुभ कार्य पड़ता है और हनुमान जी गंगा (Maa Ganga) स्नान करते हैं तो उस वर्ष के सभी धार्मिक आयोजन निर्विघ्न पूरे होते हैं और खुशहाली आती है। यदि किसी वर्ष मां गंगा हनुमान जी को स्नान कराने नहीं आती हैं तो अगले वर्ष में कई बार स्नान कराकर उस कमी को पूरा कर देती हैं।

हनुमान-मनकामेश्वर मन्दिर और RSS कार्यालय को बम से उड़ाने की धमकी देना वाला गिरफ्तार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *