कोई बीमारी नहीं है कोरोना, इस साइंटिस्ट ने किया दावा, समर्थन में सड़कों पर उतरे हजारों लोग

नई दिल्ली॥ Jeremy Corbyn के भाई पियर्स कॉर्बिन Piers Corbyn को इंग्लैण्ड में एक मार्च का आयोजन करना महगा पड़ गया। यहां कोविड-19 संकट के दौरान भीड़ के इकट्ठा किए जाने को लेकर उनपर 10 हजार पाउंड का जुर्माना लगाया गया है। इस प्रदर्शन में ये दावा किया जा रहा था कि कोविड-19 वास्तव में कोई महामारी नहीं बल्कि एक छलावा है।

SCIENTIST

बता दें कि पियर्स कॉर्बिन मौसम साइंटिस्ट हैं। उन्होंने एंटी लॉकडाउन मार्च में 10 हजार से ज्यादा लोगों को इकट्ठा कर लिया था। इस दौरान पुलिस ने उन्हें अरेस्ट कर लिया और पूछताछ के लिए लेकर चले गए। इस बाबत पियर्स कॉर्बिन ने बताया कि उनसे 10 घंटे लंबी पूछताछ चलती रही और इस दौरान उन्हें थप्पड़ भी जड़ दिया।

गौरतलब है कि पूरे इंग्लैंड में नए लॉकडाउन के नियम लागू हो चुके हैं। ऐसे में 30 से ज्यादा नागरिकों लोगों को इस बाबत तैनात किया गया था कि वे किसी भी तरह के सभा या मार्च को रोक सके। ऐसे में पूर्व लेबर पार्टी के जेरेमी कॉर्बिन के भाई पियर्स कॉर्बिन ने मार्च में लोगों को सम्बोधित किया।

साइंटिस्ट ने दावा किया कि कोविड-19 महामारी का मामला 5जी फोन नेटवर्क से जुड़ा है नाकि यह कोई वायरस है। बता दें कि इसी बाबत भीड़ इंग्लैंड की सड़कों पर एकत्र हुई थी। ऐसे में 30 से ज्यादा संगठनों पर अब प्रशासन द्वारा भारी जुर्माना लगाया जा रहा है।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close