आपदा में अवसर: अम्बेडकरनगर में महामारी में मची है लूट, पुलिस-प्रशासन मौन

कोरोनाकाल में प्रदेश की योगी सरकार द्वारा पान मसाला, सिगरेट एवं गुटखे पर कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार प्रतिबन्धित किया गया था, लेकिन व्यवसायियों को शासन के आदेश से कोई फर्क नही पड़ता।

सौरभ चतुर्वेदी

अम्बेडकरनगर। उत्तर प्रदेश के अम्बेडकरनगर जिले में कोरोना महामारी में लूट मची है। छोटे और बड़े व्यापारी आपदा मे अवसर को चरितार्थ कर रहे हैं। आवश्यक वस्तुओं, सब्जियों, फलों और दवाइयों के दाम अधिक वसूले जा रहे हैं। पुलिस-प्रशासन दिखावा तो करता है, लेकिन असल में प्रशासन की ही छत्रछाया में ही सबकुछ हो रहा है।

ध्यातव्य है कि कोरोनाकाल में प्रदेश की योगी सरकार द्वारा पान मसाला, सिगरेट एवं गुटखे पर कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार प्रतिबन्धित किया गया था, लेकिन व्यवसायियों को शासन के आदेश से कोई फर्क नही पड़ता। अम्बेडकरनगर में सरकारी आदेशों की जमकर धज्जियां उड़ाये जाने का मामला निरंतर प्रकाश में आ रहा है। लोगों का कहना है कि गुटखे एवं सिगरेट की बिक्री दुगने से अधिक दामों में की जा रही है, जो कि कोविड-19 गाइडलाइन के अनुसार प्रतिबन्धित है।

इसी तरह जिले में मेडिकल स्टोरों से लेकर, फल-सब्जियों, किराना की दुकानों तक जमकर कालाबाजारी की जा रही है। ये पुलिस-प्रशासन की सह के बिना संभव नहीं है। ऐसे तत्वों पर प्रशासन शिकंजा क्यों नही कस रहा है। फिलहाल पुलिस-प्रशासन मौन है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *