President Volkan Bozkir ने समृद्ध कार्यों के लिए भारत का किया प्रशंसा

अध्यक्ष वोल्कन बोज्किर ने इन कार्यों में समुद्री सुरक्षा, शांति रक्षा और अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को आतंकवाद से होने वाले खतरों पर उच्च स्तरीय चर्चा शामिल होगी।

अध्यक्ष वोल्कन बोज्किर (President Volkan Bozkir) ने इन कार्यों में समुद्री सुरक्षा, शांति रक्षा और अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को आतंकवाद से होने वाले खतरों पर उच्च स्तरीय चर्चा शामिल होगी। बोज्किर ने बुधवार को संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति के साथ समन्वय बैठक की। तिरुमूर्ति अगस्त महीने के लिए सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष होंगे।

President Volkan Bozkir

संयुक्त राष्ट्र महासभा के 75वें सत्र के अध्यक्ष के कार्यालय से जारी बयान के अनुसार, तिरुमूर्ति ने बोज्किर (President Volkan Bozkir) को 15 देशों की परिषद की भारत की अध्यक्षता के दौरान होने वाली मुख्य गतिविधियों की जानकारी दी। इन गतिविधियों का ध्यान समुद्री सुरक्षा, प्रौद्योगिकी और शांति रक्षा के साथ ही आतंकवादी कृत्यों से अंतरराष्ट्रीय शांति एवं सुरक्षा को होने वाले खतरों पर उच्च स्तरीय चर्चा पर केंद्गित होगा। उन्होंने महासभा के 76वें सत्र के उच्च स्तरीय सप्ताह की तैयारियों पर भी चर्चा की और यह भी कहा सत्र सितंबर में आयोजित किया जाएगा।

बोज्किर (President Volkan Bozkir) ने उनके मुलाकात करने के लिए तिरुमूर्ति का आभार जताया और सुरक्षा परिषद की अधिकतर बैठकों में व्यक्तिगत तौर पर मौजूद रहने और अगस्त के लिए सुरक्षा परिषद के काम के समृद्ध कार्यक्रम के लिए उनकी प्रशंसा की। बयान के मुताबिक, दोनों ही लोगों ने अगस्त के पूरे महीने में एक साथ काम करने की प्रतिबद्धता को रेखांकित किया।

 

उल्लेखनीय है कि भारत को पिछले साल 2021 के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर चुना गया था। ऐसे में भारत को अगले महीने 15 देशों वाली शक्तिशाली परिषद के अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी निभानी हैं। हर सदस्य देश बारी-बारी से एक माह के लिए परिषद की अध्यक्षता करता है। (President Volkan Bozkir)

अध्यक्ष वोल्कन बोज्किर (President Volkan Bozkir) के चुनाव में मिले जबरदस्त समर्थन की मदद से दो साल के लिए इसका अस्थायी सदस्य चुना गया है। सुरक्षा परिषद की पांच अस्थायी सीटों के लिए हुए चुनाव में एशिया-प्रशांत देशों की श्रेणी से उम्मीदवार भारत को 192 मतों में से 184 मत मिले थे। सुरक्षा परिषद के अस्थायी सदस्य के तौर पर भारत का दो वर्ष का कार्यकाल एक जनवरी 2021 से शुरू हुआ। भारत के अलावा आयरलैंड, मेक्सिको, केन्या और नॉर्वे ने भी चुनाव जीता।

Corona Third Wave कितनी खतरनाक होगी, संभावित खतरे को लेकर सरकार ने चेताया

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *