हैवानियत की इंतहा : एक-एक कर दरिंदे करते रहे दुष्कर्म, नाबालिग लड़की ने तोड़ दिया दम

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गांव में नहर किनारे अरहर की झाड़ी में एक-एक कर चार लड़कों ने दुष्कर्म किया। तीसरे लड़के के दुष्कर्म के बाद वह बेहोश हो गई। उसके बाद भी एक अन्य लड़के ने दुष्कर्म किया। अंतत: लड़की ने दम तोड़ दिया।

साहिबगंज। झारखंड के साहिबगंज जिला के रांगा थाना अंतर्गत लखीमपुर गांव में नाबालिग लड़की की मौत गैंगरेप के दौरान ही हो गई थी। यह बात गिरफ्तार आरोपियों से पुलिस की पूछताछ के बाद सामने आई है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, गांव में नहर किनारे अरहर की झाड़ी में एक-एक कर चार लड़कों ने दुष्कर्म किया। तीसरे लड़के के दुष्कर्म के बाद वह बेहोश हो गई। उसके बाद भी एक अन्य लड़के ने दुष्कर्म किया। अंतत: लड़की ने दम तोड़ दिया। घटना की जानकारी मृतका की सहेली व एकमात्र चश्मदीद ने पुलिस को दी।

gangrape 1

नहर किनारे घूमने गई थी लड़कियां

पुलिस के मुताबिक, घटना शुक्रवार शाम करीब 5.30 बजे की है। घटनास्थल के पास स्थित मैदान में फुटबॉल खेलने के बाद चार लड़के बैठकर मोबाइल देख रहे थे। इसी दौरान इन लड़कों की नजर नहर किनारे घूमती दोनों लड़कियों पर पड़ी। तभी चारों लड़कों ने एक और साथी को बुला लिया। उसके बाद चारों लड़के दोनों लड़कियों के पास पहुंचे और दोस्ती करने का प्रयास करने लगे। इस दौरान एक लड़का सहेली की दीदी से परिचित होने की बात बताने लगा। जब बात नही बनी तो इसके बाद लड़के एक लड़की से छेड़छाड़ करने लगे। तब तक अंधेरा  हो चुका था। उन लड़कों ने नाबालिग के साथ दुष्कर्म करना शुरू कर दिया।

दुष्कर्म के क्रम में वह बेहोश जाने के बाद भी चौथे लड़के ने जोर-जबरदस्ती की। कुछ ही देर में लड़की ने दम तोड़ दी। लड़की की मौत के बाद उन लड़कों ने रात के अंधेरे में शव को नहर किनारे से उठाकर मृतका के घर से कुछ दूर पर स्थित एक अर्द्धनिर्मित मकान के छज्जे पर लाकर रखा दिया। ऐसा करने के पीछे उन लड़कों का मकसद घटना को दूसरा रंग देने का रहा होगा।

पांचों आरोपी नाबालिग, गिरफ्तार 

नाबालिग से गैंगरेप के बाद हत्या मामले में पांचों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। सभी आरोपी 15-16 साल के हैं। पुलिस सभी आरोपियों को दुमका स्थित बाल सुधार गृह भेजेगी। एसपी अनुरंजन किस्पोट्टा ने बुधवार को बताया कि गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में लड़की के साथ गैंगरेप की बात स्वीकार की है। गैंगरेप के दौरान ही नाबालिग बच्ची की मौत हो जाने के बाद शव को उसके घर के छज्जे के पास रख दिया था।

घटना की सूचना मिलते ही बरहड़वा एसडीपीओ प्रमोद मिश्रा के नेतृत्व में टीम गठित कर मामले की छानबीन का निर्देश दिया गया। दो बच्चियां अपने मित्रों के साथ बुधवार सात अक्टूबर को गई थी। दो दिन बाद दोनों बच्चियां वापस आ रही थीं। उनके ही गांव के चार पांच लड़कों ने उन्हें रोककर जोर जबरदस्ती की। वहां से एक बच्ची भागने में सफल रही।

नाबालिग का पोस्टमार्टम, शव संक्रमित मिला

साहिबगंज के पतना में कब्र से निकाल कर पोस्टमार्टम के लिए बुधवार को एसएनएमएमसीएच भेजा गया नाबालिग लड़की का शव कोरोना पॉजिटिव निकला। मेडिकल बोर्ड ने देर रात शव का पोस्टमार्टम कर दिया। हालांकि पोस्टमार्टम रिपोर्ट की जानकारी नहीं मिल सकी है। इससे पूर्व, सुबह 11 बजे एसएनएमएमसीएच में शव की पहले कोरोना जांच की गई, जिसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई। रिपोर्ट आने के बाद पोस्टमार्टम के लिए शव पोस्टमार्टम हाउस भेजा गया। इसके लिए मेडिकल बोर्ड बनाया गया।

हालांकि शव के साथ आए पुलिसकर्मी कोर्ट का आदेश नहीं लाए थे, जिस कारण शाम छह बजे तक शव का पोस्टमार्टम नहीं हो सका। साहिबगंज से कोर्ट का आदेश आने के बाद धनबाद डीसी उमाशंकर सिंह ने विशेष परिस्थितियों में शव के पोस्टमार्टम का आदेश जारी किया। रात आठ बजे के बाद पोस्टमार्टम शुरू हुआ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *